scorecardresearch
 

मेहनत के दम पर दर्जी के बेटे ने लिया IIT में प्रवेश, नहीं थे कोचिंग के पैसे

दिल्ली के रहने वाले 16 साल के विजय ने मिसाल कायम की है. उनकी मेहनत ने एक बार फिर से साबित कर दिया है कि जहां चाह है वहीं राह है. विजय ने कठिन परिस्थितियों में मेहनत कर कामयाबी हासिल की.

विजय ने अपनी मेहनत के दम पर दिल्ली आईआईटी में प्रवेश लिया है (Source: Manideep Sharma) विजय ने अपनी मेहनत के दम पर दिल्ली आईआईटी में प्रवेश लिया है (Source: Manideep Sharma)

  • विजय की सफलता पर अरविंद केजरीवाल ने भी खुशी जाहिर की
  • विजय के पिता दर्जी हैं, नहीं थे प्राइवेट कोचिंग में तैयारी करने के पैसे

  • लिया था दिल्ली सरकार की जय भीम प्रतिभा विकास योजना की कोचिंग में दाखिला

दिल्ली के रहने वाले 16 साल के विजय ने मिसाल कायम की है. उनकी मेहनत ने एक बार फिर से साबित कर दिया है कि जहां चाह है वहीं राह है. विजय ने कठिन परिस्थितियों में मेहनत कर कामयाबी हासिल की. विजय दिल्ली के माधोपुर इलाके में रहते हैं. उन्होंने अपनी मेहनत के दम पर दिल्ली आईआईटी में प्रवेश लिया है.

विजय दिल्ली में अपने परिवार के साथ रहते हैं. उनके पिता दर्जी का काम करते हैं. घर में इतनी आमदनी नहीं थी कि प्राइवेट कोचिंग में पैसा देकर विजय आईआईटी की तैयारी कर पाते. निजी कोचिंग संस्थान लगभग 3 से 4 लाख रुपये की फीस लेते हैं. ऐसे में विजय ने दिल्ली सरकार की जय भीम प्रतिभा विकास योजना के कोचिंग इंस्टीट्यूट में दाखिला लिया और वहां फ्री में कोचिंग लेकर आईआईटी की प्रवेश परीक्षा पास की.

विजय की इस सफलता पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी खुशी जाहिर की है. उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा- "विजय कुमार के पिताजी दर्जी हैं, माताजी घरेलू काम करती हैं. आज मुझे बेहद खुशी हो रही है कि दिल्ली सरकार ने इनकी मुफ्त कोचिंग कराई और इनका IIT में दाखिला हो गया. यही तो था बाबासाहब का सपना, जो आज दिल्ली पूरा कर रही हैं."

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें