scorecardresearch
 

राजस्‍थान के 6 जिलों में तैयार होंगे आर्युवेद, योग और नैचुरोपैथी कॉलेज, होंगी 700 से अधिक भर्तियां

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार आयुर्वेद को बढ़ावा देने और उससे संबंधित सुविधाओं को विकसित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. विषय की पढ़ाई के लिए जयपुर, कोटा, सीकर, बीकानेर और भरतपुर में इंटीग्रेटेड कॉलेज स्थापित किए जाएंगे.

Yoga Institute (Representational Image) Yoga Institute (Representational Image)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 6 जिलों में इंस्टिट्यूट स्‍थापित किए जाएंगे
  • 700 से अधिक भर्तियां भी की जाएंगी

राजस्थान सरकार ने बुधवार को जयपुर सहित राज्‍य के 6 जिलों में आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा के महाविद्यालयों की स्थापना को मंजूरी दे दी है. एजेंसी के अनुसार, राज्‍य स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान आयुर्वेद के महत्व को साबित किया गया है. इसे देखते हुए ही छात्रों में योग और आयुर्वेद की पढ़ाई को बढ़ावा देने का प्रयास किया जाएगा.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार आयुर्वेद को बढ़ावा देने और उससे संबंधित सुविधाओं को विकसित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. विषय की पढ़ाई के लिए जयपुर, कोटा, सीकर, बीकानेर और भरतपुर में इंटीग्रेटेड कॉलेज स्थापित किए जाएंगे. उदयपुर में राजकीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा महाविद्यालय की स्थापना को भी स्वीकृति दे दी गयी है.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने आगे कहा कि नए कॉलेजों की स्थापना से राज्य के शिक्षित युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे. इसके लिए 778 नए शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक पदों के सृजन को भी मंजूरी दी गई है. इन महाविद्यालयों में छात्र योग-आयुर्वेद की पढ़ाई भी कर सकेंगे और इस विषयों में डिग्री धारक युवाओं को नौकरी का भी अवसर मिलेगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें