scorecardresearch
 
एजुकेशन न्यूज़

क्या है Egg Freezing? कैसे 35 साल की उम्र तक एग प्रिजर्व कराकर बाद में बन सकती हैं मां

प्रतीकात्मक फोटो (getty)
  • 1/8

टीवी कलाकार मोना सिंह, बॉलीवुड अभ‍िनेत्री काजोल की बहन तनीषा मुखर्जी जैसी अभ‍िनेत्र‍ियों ने अपनी कम उम्र में ही अपने एग फ्रीज करा दिए थे. इससे उन्हें बढ़ी उम्र में भी मां बनने का सुख मिलना आसान हो गया है. करियर और मां बनने के सपने के बीच कशमकश में उलझी लड़कियों की जिंदगी को एग प्रिजर्वेशन की प्रक्रिया ने बहुत आसान कर दिया है. आइए जानते हैं क्या होता है एग प्रिजर्वेशन, कैसे अपने एग सुरक्ष‍ित करके बढ़ी उम्र में भी मां बनने का सपना पूरा किया जा सकता है. इस प्रक्र‍िया में कितना खर्च आता है, सबकुछ यहां जानिए. 

प्रतीकात्मक फोटो (getty)
  • 2/8

सरोजनी नायडू मेडिकल कॉलेज आगरा में स्‍त्री व प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ निध‍ि ने aajtak.in से बातचीत में कहा कि पहले स्पर्म फ्रीजिंग की प्रक्र‍िया सामने आई थी. जिसमें वो पुरुष जो मिल‍िट्री में जाते थे या किसी ऐसी जॉब में थे जिसमें पिता बनने की प्लानिंग करना उनके लिए मुश्क‍िल होता था, वो लोग अपने स्पर्म प्रिजर्व करा देते थे ताकि उनके इस्तेमाल से वो दूर रहकर भी अपनी फैमिली प्लान कर सकें. लेकिन अब धीरे धीरे एग प्रिजर्व कराने का भी चलन बढ़ रहा है. 

 

प्रतीकात्मक फोटो (getty)
  • 3/8

डॉ निधि बताती हैं कि एग प्रिजर्वेशन का सबसे पहले एक्सपेरिमेंट उन महिलाओं पर किया गया था जो ओवेरियन कैंसर या ऐसी बीमारी से जूझ रही थीं जिसमें रेडिएशन करते थे. ऐसे में उनके एग्स पहले निकालकर फ्रीज करा दिए जाते थे, फिर उनका रेडिएशन करते थे. लेकिन शुरुआती दौर में फ्रीजिंग मैटेरियल ऐसा था जिससे एग्स की क्वॉलिटी पर असर पड़ता था. लेकिन मेड‍िकल साइंस ने अब इस द‍िशा में और काम किया है, अब एग की क्वॉलिटी मेंटेन रहती है जिसे महिलाएं कभी भी इस्तेमाल कर सकती हैं. 

प्रतीकात्मक फोटो (getty)
  • 4/8

डॉ निधि‍ ने कहा कि तमाम चिकित्सा वैज्ञानिक शोधों में सामने आया है कि जैसे जैसे महिलाओं की एज बढ़ती है तो ओवम में डीएनए में बदलाव देखे गए हैं. इससे 35 साल के बाद प्रेंग्नेंसी प्लान करने पर बच्चों में डाउन सिंड्रोम होने के चांसेज ज्यादा होते है. आजकर करियर वुमन हैं जो लेट शादी करती हैं या फैमिली प्लानिंग लेट करती हैं, उनके लिए ये बेहतर विकल्प है.

उन्होंने बताया कि वो खुद भी एक ऐसा केस हैंडिल कर चुकी हैं जिसमें पहले एग को फ्रीज किया गया था, फिर बाद में उसे मेडिकल प्रोसेस से इस्तेमाल किया गया. डॉ निध‍ि कहती हैं कि फिलहाल आगे एग के बाद में इस्तेमाल को लेकर कई स्टडी चल रही है. ऐसा दिख रहा है कि बदलते वक्त के साथ भविष्य में यह प्रक्र‍िया काफी चलन में आने वाली है. 

प्रतीकात्मक फोटो (getty)
  • 5/8

AOGD(Association of Obstetricians and Gynaecologists of Delhi)की प्रेसीडेंट डॉ अचला बत्रा ने aajtak.in से बातचीत में कहा कि मेट्रो सिटीज में एग प्रिजर्व करने का चलन बीते कई सालों में बढ़ा है. यह बहुत कठ‍िन प्रक्र‍िया नहीं है. शहरों में स्थ‍ित आईवीएफ सेंटर में महिलाएं अपने एग को फ्रीज करा सकती हैं. इसके लिए पहले उनमें दवाओं के जरिये ज्यादा एग प्रोड्यूस किए जाते हैं, फिर उनमें से लाइव एग को सेव करके फ्रीजिंग में रख दिया जाता है. जिसे वो 40 के बाद भी इस्तेमाल कर सकती हैं. 

प्रतीकात्मक फोटो (getty)
  • 6/8

डॉ अचला ने बताया कि इसे मेडिकल साइंस में 'मैच्योर औसाइट क्रायोप्रिजर्वेशन' कहते हैं. इसमें ओवरीज से मैच्योर एग निकालकर उन्हें लिक्व‍िड नाइट्रोजन में एक तय तापमान में फ्रीज किया जाता है. फिर जब वो फैमिली प्लान करती हैं तो अपने एग्स को इस्तेमाल कर सकती हैं. इसके लिए स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स  उन एग्स को सामान्य तापमान में लाकर स्पर्म के साथ फर्टिलाइज कराते हैं. फिर फर्टिलाइज हो गए एग को यूट्रस में रोपित किया जाता है. जिससे वो अपनी नई उम्र के हेल्दी एग से अपना बच्चा प्लान कर लेती हैं. 

प्रतीकात्मक फोटो (getty)
  • 7/8

कितना खर्च आता है 
एग फ्रीजिंग में खर्च की बात करें तो अभी भारत में यह काफी खर्चीली मानी जाती है. लेकिन कई कंपनियां ऐसी भी सामने आई हैं जो एग हार्वेस्टिंग को बीमा कवर में लेने लगी हैं. भारत में इसकी कीमत 50 हजार से एक लाख रुपये के बीच है. साथ ही इसमें सालाना स्टोरेज चार्ज देने पड़ते हैं. इसके बाद में जब एग के इस्तेमाल से आईवीएफ के जरिये फैमिली प्लान की जाती है तब भी यह काफी खर्चीली प्रक्र‍िया मानी जाती है.

प्रतीकात्मक फोटो (getty)
  • 8/8

छिड़ी बहस 
हॉलीवुड और बॉलीवुड से एग फ्रीजिंग चर्चा में आने के बाद इस पर काफी बहस छिड़ी है. सोशल मीडिया और ब्लॉग पर भी लोग इस पर लिख रहे हैं. डॉ अचला कहती हैं कि यह करियर ओरिएंटेड महिलाओं के लिए काफी मददगार प्रक्र‍िया है. जब 25 से 35 साल की उम्र में करियर बनाने का सही समय होता है, यही उम्र मां बनने के लिए भी मुफीद होती है. ऐसे में एग फ्रीजिंग काफी मददगार साबित होती है. मॉडल, एअर होस्टेस, कॉपोरेट कंपनी जॉब्स हों या फिर उच्च श‍िक्षा के बाद सिविल सेवाओं की तैयारी करनी हो या डॉक्टरी की लंबी पढ़ाई करनी हो, महिलाओं के लिए ये एग फ्रीजिंग ऐसे हालातों में वरदान साबित हो सकती है.