scorecardresearch
 

जानें- पाकिस्‍तान 14 अगस्त को क्यों मनाता है स्‍वतंत्रता दिवस?

भारत और पाकिस्‍तान का बंटवारा 15 अगस्‍त 1947 की मध्‍यरात्रि को हुआ था. लेकिन पाकिस्तान आजादी का जश्न 14 अगस्त को मनाता है. जानें क्या है इसके पीछे वजह?

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

आज पाकिस्तान अपना 71वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है. 15 अगस्त, 1947 भारतीय इतिहास की वो तारीख है जब हमारा देश ब्रिटिश हुकूमत से आजाद हुआ था. वहीं इसी दिन पाकिस्तान को भी आजादी मिली थी. लेकिन 15 अगस्त के बावजूद पाकिस्तान अपनी आजादी का जश्न 14 अगस्त को मनाता है.

पाकिस्तान का आजादी का जश्न 15 अगस्त की बजाए 14 अगस्त को मनाए जाने के पीछे एक कारण छुपा है. दरअसल, हुआ यूं था कि पाकिस्तान के रूप में एक अलग राष्ट्र की स्वीकृति 14 अगस्त को हो गई थी.  इसी दिन ही ब्रिटिश लॉर्ड माउंटबेटेन ने पाक को स्वत्रंत राष्ट्र का दर्जा देकर सत्ता सौंपी थी. 

साल 1948 में पाकिस्तान में आजादी की तारीख को 14 अगस्त कर दिया गया था. कई मीडिया रिपोर्ट्स का ये भी कहना है कि उस दिन रमजान का 27वां दिन था. जो इस्लामी कैलेंडर के अनुसार खास और पवित्र दिन माना जाता है.

इसलिए पाकिस्तान ने अपना आजादी का जश्न हर साल 14 अगस्त को ही पाकिस्तान स्वत्रंता दिवस मनाता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 1948 में पाकिस्तान ने जो पहला डाक टिकट जारी किया उसमें आजादी की तारीख 15 अगस्त 1947 ही दर्ज है.

वहीं पाकिस्‍तान के संस्‍थापक मोहम्‍मद अली जिन्‍ना ने 15 अगस्‍त को ही पाकिस्‍तान के जन्‍म की घोषणा की थी. बतादें इंडियन इंडिपेंडेंस एक्ट के मुताबिक भारत और पाकिस्तान एक ही दिन आजाद हुए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें