scorecardresearch
 

मंसा मूसा एक ऐसा अमीर, जिसके सामने बिल गेट्स भी भरता है पानी

दुनिया में आज से सैकड़ों वर्ष पूर्व मंसा मूसा नामक एक शख्स रहता था और इसके पास इतना धन था, इतना धन था, इतना धन था...कि आज के हर अमीर के ठाट उसके आगे फीके ही हैं...

X
Mansa Musa Mansa Musa

दुनिया के इतिहास में जब कभी भी बहस-मुबाहिसे की शुरुआत हुई है तो उसमें अमीर लोगों की चर्चा जरूर होती है. अंबानी परिवार के पास कितना पैसा है? टाटा और बिरला किन गाड़ियों से कहीं आते-जाते हैं? अरब के शेख किन-किन तौर तरीकों से पैसे उड़ाते हैं? कहां-कहां अय्याशियां करते हैं? बिल गेट्स किसको पछाड़ कर दुनिया का सबसे अमीर आदमी बना वगैरह.

लेकिन इस बीच आप एक ऐसे शख्स को भूलते रहे हैं जिनकी प्रॉपर्टी के आकड़े देखने के बाद आपके होश उड़ जाएंगे. इस महंगाई के दौर में यदि उसकी धनराशि की चर्चा की जाए तो 1913 में $100 मिलियन की धनराशि साल 2013 में बढ़ कर $2.299.63 पहुंच जाती.

आखिर कौन है वो शख्स?
हम इस बात को भलीभांति समझ सकते हैं कि आपके लिए अब संयम रखना मुश्किल होता जा रहा है. तो जान लें कि यह शख्स माली साम्राज्य का राजा मंसा मूसा प्रथम था जिसने 1312 से 1337 के बीच यहां शासन किया. इस व्यक्ति को संपूर्ण मानव इतिहास का सबसे अमीर इंसान कहा जा सकता है. उस समय इसके पास $400 मिलियन की प्रॉपर्टी मौजूद थी.

मंसा मूसा के धन की वजह क्या है?
मंसा मूसा उस दौर में नमक और सोने का कारोबार किया करता था. वह खुद को सच्चा मुसलमान मानता था और उसने अपने राजपाट के दौर में कई मस्जिद भी बनवाई थीं. इसके अलावा उसने कई विश्वविद्यालय, स्कूल और शैक्षणिक संस्थान भी खुलवाए. उसने अपनी जिंदगी में मक्का की एक मशहूर तीर्थ को भी अंजाम दिया जिसमें उसने खुले हाथों से पैसे लुटाए.
इस यात्रा में कुल 60,000 सोने के सिक्के खर्च हुए. मूसा के साम्राज्य में वर्तमान दौर का घाना, टिंबकटू और माली का इलाका आता है.

मूसा के थे दर्जनों नाम...
मूसा का साम्राज्य इतना बड़ा और प्रसिद्धि इतनी थी कि उसे अलग-अलग जगहों पर कई उपाधियों और उपनामों से नवाजा गया था. Emir of Melle, Lord of the Mines of Wangara and Conqueror of Ghanata उनमें से अहम हैं. कहा जाता है कि उसके शासन काल में यूरोप अकाल और गृह युद्ध से गुजर रहा था तो वहीं अफ्रीका के कई इलाके समृद्धि की ओर बढ़ रहे थे.
उनके काफिले में कुल 80 ऊंट और हर ऊंट पर 300 पाउंड सोना लदा होता. काफ‍िले में 60,000 लोग शामिल रहते थे और इसकी लंबाई 2000 मील तक पहुंच जाया करती थी.

मूसा के मृत्यु वर्ष पर काफी विवाद है लेकिन इतिहासकारों की मानें तो उसने 25 वर्षों तक शासन किया था. इतिहासकारों के वर्णन को गर सही माना जाए तो उसके काफिले को देखने वालों की आंखें फंटी की फंटी रह जाया करती थीं, और यह काफिला ही उसे दुनिया का सबसे अमीर इंसान साबित करने के लिए काफी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें