scorecardresearch
 
इतिहास

बंगाल से संवाद में PM मोदी ने गिनाए 36 महान हस्त‍ियों के नाम, जानें- कौन हैं वो लोग

Rabindranath Tagore
  • 1/7

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को वर्चुअली रैली के जरिये दुर्गा पूजा के कार्यक्रम में हिस्सा लिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल में एक दुर्गापूजा पंडाल का उद्घाटन भी किया. उन्होंने इस मौके पर पीएम ने संत परंपरा, समाज सेवा, स्वतंत्रता सेनानी, विज्ञान के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य करने वाली हस्त‍ियों से लेकर समाज में महत्वपूर्ण योगदान देने वाली महिलाओं सहित 36 नाम गिनाए. 

Anandmayi Ma
  • 2/7

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संत परंपरा के क्षेत्र में रामकृष्ण परमहंस, विवेकानंद, चैतन्य महाप्रभु, श्री अरविंदो, बाबा लोकनाथ 
ठाकुर, अनुकूल चंद और माता आनंदमयी का नाम गिनाया. अनेक महान सन्तों द्वारा वन्दनीय ये सभी भारत के वो नाम हैं जो सदियों तक याद किए जाएंगे. 

Bankimchandra Chaterjee
  • 3/7

पीएम मोदी ने समाज सेवा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण नाम बंकिमचंद्र चटर्जी, शरतचंद, ईश्वरचंद्र विद्यासागर, गुरुचंद ठाकुर, 
हरिचंद ठाकुर, पंचानन वर्मा और राजा राममोहन राय का नाम लिया. ये वो नाम हैं जिन्होंने विभिन्न आंदोलनों के जरिये समाज में नये बदलाव प्रस्तुत किए. 

फोटो: बंकिमचंद्र चटर्जी

Guruchand Thakur
  • 4/7

देश के स्वतंत्रता इतिहास में सुभाष चंद बोस सहित एसपी मुखर्जी, खुदीराम बोस, प्रफुल्ल चाकी, मास्टर दा,  सूर्यसेन, 
बाबा जतिन जैसे वो नाम हैं जिन्होंने आजादी की लड़ाई में अपना सर्वस्व न्योछावर किया. प्रधानमंत्री मोदी ने आज इनके भी नाम गिनाए. 

 

फोटो: गुरुचंंद ठाकुर  

Ishwar Chandra Vidyasagar
  • 5/7

बंगाल की महिलाओं में भी मातंगिनी हाजरा, रानी राज‍मणि,‍ प्रीतिलता वातेदार, सरला देवी चौधरानी और 
कामिनी राय जैसे नाम हैं जिन्होंने सामाजिक चेतना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. ये बंगाल के इतिहास में वो नाम हैं जो हमेशा याद किए जाएंगे, पीएम मोदी ने इन महिला हस्त‍ियों के नाम गिनाए. 

 

फोटो: ईश्वरचंद व‍िद्यासागर 

Panchanan Verma
  • 6/7

विज्ञान के क्षेत्र में योगदान देने वाले लोगों में जगदीश चंद्र बोस, सत्येंद्र नाथ बोस और आचार्य प्रफुल्ल चंद्र राय ऐसे नाम हैं जिन्हें आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा याद किया गया.

 

फोटो: पंचानन वर्मा 

Swami Vivekanand
  • 7/7

बंगाल को आर्ट एंड कल्चर का हब माना जाता है. स्वामी विवेकानंद ने अमेरिका स्थित शिकागो में सन् 1893 में आयोजित विश्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया था. भारत का आध्यात्मिकता से परिपूर्ण वेदान्त दर्शन अमेरिका और यूरोप के हर एक देश में स्वामी विवेकानन्द की वक्तृता के कारण ही पहुंचा.  इनमें स्वामी व‍िवेकानंद सहित कला- साहित्य क्षेत्र में काजी नजरुल इस्लाम, सत्यजीत रे, ऋत्व‍िक घटक, मृणाल सेन, सुचित्रा सेन, उत्तम कुमार और अवनींद्र नाथ टैगोर आदि नाम पीएम मोदी द्वारा सराहे गए.