scorecardresearch
 

कैंपस सलेक्शन में गूगल ने 1.44 करोड़ रुपये का पैकेज ऑफर किया

बाजार में तेजी का असर कंपनियों के कैंपस सलेक्शन पर भी पड़ा है. सबसे बड़ी बात यह है कि इस बार गैर आईआईटी कॉलेजों में जबर्दस्त सैलरी दी जा रही है.

symbolic image symbolic image

बाजार में तेजी का असर कंपनियों के कैंपस सलेक्शन पर भी पड़ा है. सबसे बड़ी बात यह है कि इस बार गैर आईआईटी कॉलेजों में जबर्दस्त सैलरी दी जा रही है. एक आर्थिक पत्र ने यह खबर दी है.

गूगल ने इस सीजन में गैरआईआईटी इंजीनियरिंग कॉलेजों की ओर रुख किया है. उसने बिट्स पिलानी के छात्रों को 1.44 करोड़ रुपये सालाना का पैकेज ऑफर किया है. यह ऑफर गूगल के विदेशी ऑफिसों के लिए है. इसी तरह माइक्रोसॉफ्ट ने अपने रेडमंड हेडक्वार्टर के लिए 79.51 लाख रुपये सालाना का पैकेज घोषित किया है.

पिछले साल गूगल और माइक्रोसॉफ्ट ने 68.34 लाख रुपये तथा 60 लाख रुपये सालाना का पैकेज दिया था. लेकिन इस बार माहौल अलग है और कंपनियां बढ़-चढ़ कर कैंपस सलेक्शन कर रही हैं. कई कंपनियों ने इस साल पिछले साल की तुलना में 25 फीसदी ज्यादा सैलरी ऑफर की है.

बिट्स पिलानी के चीफ प्सेलमेंट ऑफिसर जी बालासुब्रमण्यम ने बताया कि इस साल रिक्रूटर की संख्या में 40 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. उनके गोवा कैंपस में 100 फीसदी रिक्रूटमेंट है. कॉलेज के चार कैंपस हैं.

वीआईटी यूनिवर्सिटी के डेपुटी डायरेक्टर सैमुएल राजकुमार ने बताया कि कई कंपनियों में सैलरी पैकेज में 20 फीसदी तक का इजाफा हुआ है.

अन्य कंपनियों में एपिक सिस्टम्स और श्लमबर्जर बड़े ऑफर के साथ आने वाली हैं. एपिक सिस्ट्म 66 लाख रुपये से भी ज्यादा का ऑफर देने का इरादा रखती है.

उधर गोल्डमैन सैक्स ने इस साल कुछ कैंपस में 35 लाख रुपये तक की सैलरी ऑफर की है. ऐमेजॉन ने 25 लाख रुपये का ऑफर इलाहाबाद के एमएनएनआईटी तथा एनआईटी-कैलिकट के छात्रों को दिया.

सोशल मीडिया कंपनी लिंक्डइन 13 लाख रुपये सालाना सैलरी के अलावा 40,000 डॉलर (लगभग 24 लाख रुपये) का स्टॉक ऑप्शन तथा 1.3 लाख रुपये सालाना बोनस देने का ऑफर दे रही है.

इनके अलावा भी कई कम नामी कंपनियां भी बड़े ऑफर लेकर आ रही हैं और समझा जा रहा है कि इस बार कैंपस सलेक्शन में बेहतर ऑफर छात्रों को मिलेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें