scorecardresearch
 

पोस्टमॉर्टम: प्रदूषण पर SC ने कहा- क्‍यों ना विस्फोटक से दिल्ली को ही उड़ा दिया जाए

जब देश की राजधानी ही रहने लायक नहीं रही तो बाकी इलाकों की हालत का अंदाज़ा लगाना मुश्किल हैं. ना हवा सांस लेने के काबिल है और न ही पानी पीने के लायक है. दिल्ली में रहने वाले ज़हरीला हवा में सांस लेने को मजबूर हैं और ज़हरीला पानी पीकर अपनी प्यास बुझा रहे हैं. जहरीली हवा और दूषित पानी की खबरें सामने आने के बाद देश की सबसे बड़ी अदालत ने भी दिल्ली की हालत पर चिंता जताई. सुप्रीम कोर्ट दिल्ली के प्रदूषण पर नाकाम साबित हो चुकी सरकारों से बेहद नाराज दिखा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें