scorecardresearch
 

पोस्टमॉर्टम: दिल्ली में AAP की जीत का देखिए पूरा विश्लेषण

पोस्टमॉर्टम: दिल्ली में AAP की जीत का देखिए पूरा विश्लेषण

भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन से पनपी एक पार्टी के मुखिया के तौर पर केजरीवाल अपनी जिम्मेदारियां बखूबी जानते हैं. केजरीवाल ने अलग तरह की राजनीति का दावा करके अपनी साफ सुथरी छवि मजबूत की और इससे पार्टी की वो छवि बनी जिसके कारण अरविंद केजरीवाल प्रचार के दौरान खुद को दिल्ली वालों का बेटा कह सके. केजरीवाल ने खुद को आम आदमी बताते हुए जनता से जुड़ने की कोशिश की. वो खुद को हमेशा दूसरे नेताओं से अलग दिखाते थे और उनकी ये छवि जनता के दिलो दिमाग में घर कर गई. जनता को ये लगने लगा कि केजरीवाल जनता की जरूरतों को समझेंगे और उसे पूरा भी करेंगे. देखिए पोस्टमॉर्टम में पूरी रिपोर्ट.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें