scorecardresearch
 

पाकिस्तान आर्मी के ईसाई कर्मचारी की पत्नी से गैंगरेप

पाकिस्तान आर्मी के ईसाई कर्मचारी की पत्नी के साथ दो स्थानीय लोगों के गैंगरेप करने की खबर है. टोबा टेक सिंह इलाके में राजना थाना क्षेत्र में हुई इस घटना के बाद कर्मचारी ने अपने मकान मालिकों के बेटों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

गैंगरेप पीड़ित पर आरोपियों के परिवार ने बनाया दबाव गैंगरेप पीड़ित पर आरोपियों के परिवार ने बनाया दबाव

पाकिस्तान आर्मी के ईसाई कर्मचारी की पत्नी के साथ दो स्थानीय लोगों के गैंगरेप करने की खबर है. टोबा टेक सिंह इलाके में राजना थाना क्षेत्र में हुई इस घटना के बाद कर्मचारी ने अपने मकान मालिकों के बेटों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

बिस्तर से बांधा और बंदूक दिखाकर किया गैंगरेप
कर्मचारी ने शिकायत में कहा कि चक नंबर 291 जीबी में मकान मालिक के बेटे और उसके साथी ने आधी रात को दीवार फांदकर उनके घर में घुसे और बंदूक दिखाकर उनकी पत्नी को बिस्तर से बांधा और उससे गैंगरेप किया . कर्मचारी की पत्नी आसिया बीबी की चीख को दबाने के लिए आरोपियों ने उसे बंदूक की चोट भी पहुंचाई. चीख और कराह सुनकर पड़ोसियों ने मौके पर पहुंचकर उसकी जान बचाई.

पाकिस्तान आर्मी में काम करता है पीड़ित का पति
पीड़ित आसिया के पति पेशावर सिटी में पाकिस्तान आर्मी में कार्यरत हैं. वहां से कई सौ मील दूर गांव में उनकी पत्नी अकेली रहती है. घटना 20 अप्रैल की रात हुई. उनके मुताबिक पाकिस्तान आर्मी बहुत ताकतवर है लेकिन उसके रसूख का फायदा सिर्फ मुस्लिम कर्मचरियों को मिल पाता है. आरोपी मुस्लिम लड़कों को परिवार उनपर मामला वापस लेने के लिए दबाव बना रहा है.

पीड़ित को धमका रहे हैं आरोपी के परिजन
मामले की एफआईआर के मुताबिक आरोपी मोहम्मद जीशान और मोहम्मद रिजवान ने कर्मचारी की पत्नी के हाथ-पैर को बिस्तर से बांध दिया था और बंदूक दिखाकर जान से मारने की धमकी भी दी. गैंगरेप के दोनों आरोपी माकन मालिक मोहम्मद आरिफ और मोहम्मद फारुक के बेटे हैं. दोनों के परिवार वाले पीड़ित आसिया बीबी को केस वापस लेने के लिए लगातार धमका रहे हैं.

पीड़ित ने मांगी परिवार की सुरक्षा
पीड़ित आसिया ने बताया कि वह अपने मेडिकल जांच और कानूनी कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है. क्योंकि डॉक्टर्स और पुलिस पर भी आरोपियों के परिवार वालों का प्रभाव है. आसिया ने इन दोनों जांच के लिए अलग से इंतजाम किए जाने और आरोपियों के परिवार से अपनी सुरक्षा की मांग की है.

पुलिस का दावा- दबाव के बाद भी करेंगे सख्त कार्रवाई
राजना थाना इंचार्ज राय फारुक खराल ने बताया कि वह तमाम तरह के दबावों के बावजूद पीड़ित को इंसाफ दिलाएंगे. उन्होंने कहा कि पीपीसी की धारा 376 के तहत केस दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके साथ ही गैंगरेप के वक्त धमकाने के लिए इस्तेमाल किया गया बंदूक भी बरामद कर लिया गया है.

पड़ोसियों ने दी पुलिस को सूचना
अयुब मसीह और जाहिद मसीह सहित पीड़ित के कई पड़ोसियों ने कहा कि आसिया बीबी की चीख और कराह को सुनकर मदद के लिए मौके पर पहुंचने पर उन्होंने कुछ लोगों को दीवार फांदकर भागते हुए देखा. उन्होंने बिस्तर से बांधी हुई आसिया को छुड़ाने के बाद राजना थाना पुलिस को इसकी जानकारी दी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें