scorecardresearch
 

यूपी के एटा में अपहरण के बाद बच्चे की हत्या, मांगी गई थी 40 लाख फिरौती

फिरौती मांगे जाने के अगले ही दिन लोकेश का शव खेत में पड़ा मिला. 10 साल के मासूम के हाथ और पैर बंधे थे. बच्चे के मुंह पर टेप भी लगा मिला है. पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • खेत में मिला 10 साल के बच्चे का शव
  • बंधे थे हाथ-पैर, मुंह पर चिपका था टेप
  • 18 जनवरी को हुआ था बच्चे का अपहरण

उत्तर प्रदेश के एटा में एक बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या कर दिए जाने का मामला सामने आया है. मासूम का शव खेत में मिला है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है. बच्चे के परिजनों से एक दिन पहले ही अपहरण करने वालों ने फिरौती की मांग की थी. अपहर्ताओं ने बच्चे के परिजनों से 40 लाख रुपये फिरौती मांगी थी.

जानकारी के मुताबिक एटा जिले के सिढ़पुरा थाना क्षेत्र के पिथनपुर गांव निवासी किशनवीर सोलंकी का 10 साल का बेटा लोकेश 18 जनवरी को लापता हो गया था. परिजनों ने अपने स्तर से उसकी तलाश की, लेकिन उसका पता नहीं चल सका. परिजनों के मुताबिक एक दिन पहले किसी ने फोन कर उनसे 40 लाख रुपये फिरौती मांगी थी.

देखें: आजतक LIVE TV

फिरौती मांगे जाने के अगले ही दिन लोकेश का शव खेत में पड़ा मिला. 10 साल के मासूम की हत्या कितनी बेरहमी से की गई है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बच्चे के हाथ और पैर बंधे थे. बच्चे के मुंह पर टेप भी लगा मिला है. मासूम का शव मिलने की खबर से परिवार में मातम छा गया. परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया. पुलिस ने मामले की तहकीकात शुरू कर दी है. पुलिस अधिकारियों ने दावा किया कि इस वारदात को अंजाम देने वाले अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

ये भी पढ़ेंः

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें