scorecardresearch
 

पुणे: एटीएम लुटेरे गैंग का पर्दाफाश, फास्ट एंड फ्यूरियस से थे प्रेरित

पुलिस ने गैंग के मास्टरमाइंड सहित 5 सदस्यों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है. पुलिस ने गिरफ्तार गैंग के मास्टरमाइंड की पहचान कोल्हापुर के रहने वाले दिलीप मोरे के रूप में की है. पुलिस ने बताया कि यह गैंग एकबार में एक एटीएम से 35 से 40 लाख रुपये लूट लेता था.

चोरों ने स्कॉर्पियों में लगा रखी थी मशीन चोरों ने स्कॉर्पियों में लगा रखी थी मशीन

महाराष्ट्र पुलिस ने एटीएम से चोरी से करने वाले एक शातिर गैंग का पर्दाफाश किया है. यह गैंग चोरी करने के लिए एटीएम को तोड़ता नहीं था, बल्कि पूरी एटीएम मशीन ही उखाड़कर ले जाता था. पुलिस ने बताया कि यह गैंग हॉलीवुड फिल्म फास्ट एंड फ्यूरियस की तर्ज पर बेहद तेजी से चोरी करता था.

पुलिस ने बताया कि इस गैंग का आतंक पुणे, सांगली, कोल्हापुर, सतारा जैसे कई शहरों में फैला हुआ था. चोरी करने से पहले बेहद शातिर तरीके से वे पहले एटीएम बूथ में लगे CCTV कैमरा डिसकनेक्ट कर देते थे. इसके बाद मात्र 2.5 मिनट में यह गैंग पूरी एटीएम मशीन उखाड़कर चंपत हो जाता था.

पुलिस ने गैंग के मास्टरमाइंड सहित 5 सदस्यों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है. पुलिस ने गिरफ्तार गैंग के मास्टरमाइंड की पहचान कोल्हापुर के रहने वाले दिलीप मोरे के रूप में की है. पुलिस ने बताया कि यह गैंग एकबार में एक एटीएम से 35 से 40 लाख रुपये लूट लेता था.

पुलिस उपायुक्त दीपक सोकोरे ने बताया कि यह गैंग काफी होशियारी बरतते हुए पहले एटीएम के परिसर का बारीकी से मुआयना करता था. इतना ही नहीं गैंग ने चोरी के लिए एक विशिष्ट प्रकार की स्कॉर्पियो गाड़ी में मेकेनिज़्म यंत्र इंस्टाल कर रखा था.

उन्होंने बताया कि पहले लुटेरे एटीएम रूम में लगा सीसीटीवी कैमरा डिसकनेक्ट करते और उसके बाद ढाई मिनट में एटीएम उखाड़कर स्कॉर्पियो गाड़ी में डालते और फरार हो जाते. इस गैंग ने अक्तूबर 2017 में पुणे के खड़ीमशीन चौराहे का एटीएम चुरा लिया था, जिसमें 16 लाख से ज़्यादा रुपये थे. इस मामले में कोंढवा पोलिस ने मामला दर्ज किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें