scorecardresearch
 

बिहार: 50 करोड़ रुपये कीमत की अफीम की खेती का भंडाफोड़

बिहार के गया जिले में करीब 100 एकड़ अफीम नष्ट करने के बाद पुलिस ने समस्तीपुर के दियारा क्षेत्र में लगी 5 एकड़ अफीम की फसल का भंडाफोड़ किया है. अफीम की फसल बिल्कुल तैयार होने के कगार पर है. इसकी कीमत बाजार में करीब 50 करोड़ रुपये आंकी जा रही है. पुलिस की इस कार्रवाई के बाद पूरे इलाके में अफरातफरी मच गई है.

बिहार में गया के बाद समस्तीपुर में हुआ भंड़ाफोड़ बिहार में गया के बाद समस्तीपुर में हुआ भंड़ाफोड़

बिहार के गया जिले में करीब 100 एकड़ अफीम नष्ट करने के बाद पुलिस ने समस्तीपुर के दियारा क्षेत्र में लगी 5 एकड़ अफीम की फसल का भंडाफोड़ किया है. अफीम की फसल बिल्कुल तैयार होने के कगार पर है. इसकी कीमत बाजार में करीब 50 करोड़ रुपये आंकी जा रही है. पुलिस की इस कार्रवाई के बाद पूरे इलाके में अफरातफरी मच गई है.

जानकारी के मुताबिक, समस्तीपुर के दियारा क्षेत्र में पुलिस को गुप्ता सूचना मिली कि मकई और गेहूं के फसलों के बीच अफीम की खेती की जा रही है. जिले के पटोरी थाना क्षेत्र के धमौन गांव में अलग-अलग स्थानों पर 100 कठ्ठे में लगी फसल का पता चला. पिछले तीन दिनों से पुलिस अफीम की खेती पता लगाने के लिए गश्त तेज कर दी है.

पुलिस ने अबतक अब तक पटोरी थाना क्षेत्र के दक्षिणी धमौन, उत्तरी धमौन, हेतनपुर, इनायतपुर पंचायतों के अलग-अलग प्लॉट में अफीम की अवैध खेती पकड़ी है. इसमें भोनू राय, मेदनी राय, सुरेन्द्र राय, सकिन्द्र राय, अम्मक राय समेत दर्जनों लोगों की संलिप्तता सामने आई है. डीएसपी ने सीओ से जमीन के मूल मालिकों की जानकारी मांगी है.

इसमें कई ऐसे लोगों की संलिप्तता सामने आई है, जो ठेके पर जमीन लेकर उसमें अफीम की अवैध खेती करते थे. ऐसे लोगों की भी पहचान की जा रही है. फिलहाल उन खेतों में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है, जहां अफीम की खेती की गई है. पुलिस खेत में ट्रैक्टर चलवा कर इसे नष्ट करने में लगी है. सरकार इस पर विशेष ध्यान दे रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें