scorecardresearch
 

चलती कार में गैंगरेप की शिकार बनी महिला के बयानों में विरोधाभास!

जिस महिला को चलती कार में गैंगरेप करने के बाद ग्रेटर नोएडा में फेंक दिया था. पुलिस के मुताबिक उसके बयानों में विरोधाभास नजर आ रहा है. महिला ने पुलिस को कभी बताया कि वह सोहना से किडनैप हुई थी, तो कभी कहा कि गुडगांव से. महिला नशे की हालत में थी.

पुलिस पीड़ित महिला के बार बार बयान बदलने से परेशान है पुलिस पीड़ित महिला के बार बार बयान बदलने से परेशान है

जिस महिला को चलती कार में गैंगरेप करने के बाद ग्रेटर नोएडा में फेंक दिया था. पुलिस के मुताबिक उसके बयानों में विरोधाभास नजर आ रहा है. महिला ने पुलिस को कभी बताया कि वह सोहना से किडनैप हुई थी, तो कभी कहा कि गुडगांव से. महिला नशे की हालत में थी.

महिला का कहना है कि आरोपी उसे रात के डेढ बजे तक गाड़ी से गुडगांव में घुमाते रहे. लेकिन महिला ये नहीं बता पा रही है कि वो इतनी रात को किस काम से बाहर गई थी. पुलिस के मुताबिक वह रुट्स के बारे में भी अलग-अलग बयान दे रही है.

पुलिस सूत्रों की मानें तो तकरीबन 8 बजे के आसपास इस महिला को सहारा मॉल से किडनैप किया गया था. Swift गाड़ी में तीन लोग सवार थे. उन्होंने महिला को किडनैप किया. इसके बाद वे लोग वहां से दिल्ली पहुंचे. दिल्ली से ग्रेटर नोएडा और फिर सुबह तकरीबन 4 बजे के आसपास ग्रेटर नोएडा पहुंचे.

उसी वक्त पुलिस को सूचना मिली कि एक महिला सड़क पर पड़ी है. पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और उस महिला को यथार्थ अस्पताल में भर्ती कराया. शुरुआती जांच में पता चला है कि महिला नशे में थी. उसने पुलिस को उसके साथ गैंगरेप होने की शिकायत की.

इसके बाद पुलिस महिला को जिला अस्पताल लेकर पहुंची और वहां उसका मेडिकल कराया गया. उसके बाद पुलिस महिला को उस जगह पर ले गई, जहां पर उसने अपने साथ हुई घटना के बारे में बताया था. पुलिस की मानें तो पीड़ित महिला की उम्र लगभग 35 साल की है.

पीड़िता मूलतः राजस्थान के भरतपुर की रहने वाली है. उसकी शादी करीब 8 साल पहले सोहना में हुई थी. उसके 3 बच्चे हैं. लेकिन पति के साथ अनबन के चलते वह पति से अलग सोहना में ही किराए के कमरे में रहती है. जबकि तीनों बच्चे उसके पति के साथ रहते हैं.

महिला ने पुलिस को बताया है कि वह अपने घर सोहना रोड से निकली थी. गुडगांव के सहारा मॉल के पास उसे गाड़ी में बैठाया गया था. वहीं ग्रेटर नोएडा पुलिस को स्पॉट से एक सीसीटीवी फुटेज मिली है. जिसमें सिर्फ पीड़ित महिला ही दिखाई दे रही है.

पुलिस को एक गार्ड ने कॉल किया था क्योंकि महिला ने गार्ड से किसी जानकार को फोन पर सूचना देने की बात कही थी. सूत्रों के मुताबिक महिला के गाड़ी में बैठाने के बाद लगभग डेढ़ बजे तक गाड़ी गुडगांव में ही घूमती रही थी. उसके बाद आरोपी उसे दिल्ली होते हुए ग्रेटर नोएडा लेकर आए और वहां फेंक दिया .

अब पीड़ित महिला के बयान पर विवाद खडा हो गया है. महिला बार-बार बयान बदल रही है. सोमवार की रात वह किस काम से घर से बाहर निकली थी, ये साफ नहीं है. महिला अपने घरवालों का पता नहीं बता रही है. पुलिस अभी तक मिले फैक्ट्स के आधार पर जांच कर रही है. महिला के सिर पर हल्की चोट के निशान भी मौजूद हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें