scorecardresearch
 

अवैध संबंधों में बाधा बन रहा था पति, पत्नी ने प्रेमी से करा दी हत्या

यूपी में जिला गौतमबुद्ध नगर के नोएडा एक्सटेंशन में एक निजी कंपनी के सेल्स मैनेजर की हत्या का मामला पुलिस ने सुलझा लिया है. उस शख्स के कत्ल की साजिश किसी गैर ने नहीं बल्कि खुद उसकी पत्नी ने रची थी.

पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है (फाइल फोटो) पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है (फाइल फोटो)

यूपी में जिला गौतमबुद्ध नगर के नोएडा एक्सटेंशन में एक निजी कंपनी के सेल्स मैनेजर की हत्या का मामला पुलिस ने सुलझा लिया है. उस शख्स के कत्ल की साजिश किसी गैर ने नहीं बल्कि खुद उसकी पत्नी ने रची थी. उसकी लाश एक सोसाइटी के पास उसी की कार में मिली थी. मृतक का नाम रूपेंद्र चंदेल था. पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन मृतक की पत्नी यानी मुख्य आरोपी अभी फरार है.

बिसरख थाना क्षेत्र की गौर सिटी में रहने वाला रूपेंद्र चंदेल एक निजी कंपनी में सेल्स मैनेजर के पद पर तैनात था. बीती 28 अप्रैल को गौर सिटी के पास फोर्ड फीगो कार में उसकी रूपेंद्र सिंह चंदेल की लाश मिली थी. उसकी हत्या गोली मार कर की गई थी. थाना बिसरख पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा तिगरी गोल चक्कर से 3 आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ किया.

पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त पिस्टल और चार जिन्दा कारतूस भी बरामद किए हैं. पुलिस ने रूपेंद्र चंदेल की हत्या का कारण उसकी पत्नी का हत्यारोपी के साथ अवैध संबंध होना बताया है. मृतक की पत्नी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति की कराई थी.

पुलिस ने इस मामले में हत्यारोपी ओमवीर को गिरफ्तार किया है. जो फ्लैट नंबर ई244, गैलेक्सी नोर्थ एवेन्यू, गौर सिटी 2 का रहने वाला है. पुलिस ने उसके सहयोगी सुमित निवासी नया हैबतपुर, जनपद गौतमबुद्धनगर और बुलन्दशहर निवासी भूले को गिरफ्तार किया है. इन तीनों ने मिलकर रूपेंद्र चंदेल की गोली मारकर हत्या कर दी थी और फरार हो गए थे.

पुलिस की मानें तो बीती 28 अप्रैल को थाना बिसरख क्षेत्र के गौर सिटी के पास ही एक फोर्ड फिगो कार में रूपेन्द्र सिंह चंदेल का शव मिला था. मृतक के परिजनों ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था. पुलिस के मुताबिक मृतक की पत्नी अमृता के ओमवीर के साथ अवैध संबंध थे. वे दोनों रूपेंद्र को रास्ते से हटाना चाहते थे. अमृता ने अपने पति से कई बार तलाक मांगा था. लेकिन उसने तलाक नहीं दिया.

इसी बात से खफा होकर अमृता ने अपने प्रेमी ओमवीर के साथ मिलकर रूपेंद्र को रास्ते से हटाने की योजना बनाई. और 28 अप्रैल को सोसाइटी के बाहर ही कुछ दूरी पर ओमवीर ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर रूपेंद्र से अमृता को तलाक देने की बात कही. लेकिन वो नहीं माना. वहां उन सबके बीच कहासुनी होने लगी. इसी दौरान ओमवीर ने पिस्टल निकालकर रुपेंद्र को गोली मार दी. जिससे उसकी मौत हो गई थी. पुलिस अब साजिश में शामिल अमृता की तलाश कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें