scorecardresearch
 

झारखंडः यौन उत्पीड़न के आरोप में जेल भेजे गए निम्स यूनिवर्सिटी के चेयरमैन

यौन उत्पीड़न के मामले में फंसे जयपुर की निम्स यूनिवर्सिटी के चेयरमैन डॉक्टर बीएस तोमर को रांची पुलिस ने बुधवार को कोर्ट में पेश किया. जहां से उन्हें 14 दिनों की न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. तोमर के खिलाफ निम्स में पढ़ने वाली रांची की एक छात्रा ने यौन उत्पीडन के गंभीर आरोप लगाए थे.

X
पुलिस एक साल से डॉक्टर तोमर को तलाश रही थी पुलिस एक साल से डॉक्टर तोमर को तलाश रही थी

यौन उत्पीड़न के मामले में फंसे जयपुर की निम्स यूनिवर्सिटी के चेयरमैन डॉक्टर बीएस तोमर को रांची पुलिस ने बुधवार को कोर्ट में पेश किया. जहां से उन्हें 14 दिनों की न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. तोमर के खिलाफ निम्स में पढ़ने वाली रांची की एक छात्रा ने यौन उत्पीडन के गंभीर आरोप लगाए थे.

रांची पुलिस ने डॉक्टर तोमर को जयपुर से गिरफ्तार किया. फिर उन्हें ट्रांजिट रिमांड पर रांची लाया गया. बुधवार को पुलिस की टीम डॉक्टर तोमर को लेकर कोर्ट पहुंची. मामले की सुनवाई करने के बाद अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया.

डॉक्टर बीएस तोमर राजस्थान की प्रतिष्ठित मेडिकल युनिवर्सिटी निम्स के चेयरमैन हैं. उन पर यौन शोषण के गंभीर आरोप हैं. इनके खिलाफ 6 फरवरी 2015 को धारा 376 C, 511 और 354 के तहत रांची के चुटिया थाने में मामला दर्ज हुआ था. जिसमें निम्स में पढ़ने वाली एक छात्रा ने तोमर पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए थे.

डॉक्टर पर आरोप है कि उसने पीड़िता के परिवार को मामले को दबाने की धमकी दी थी, साथ-साथ करोड़ों रुपये का लालच भी दिया था. बताया जाता है कि पैसे और रसूख के बल पर ही तोमर बीते साल भर से गिरफ्तारी से बचते रहे. बताया जा रहा है कि डॉक्टर तोमर के खिलाफ यौन शोषण के और भी मुकदमे दर्ज हैं.

डॉक्टर तोमर की बदसलूकी का मामला विधानसभा में भी उठाया गया था. मामला हाई प्रोफाइल होने की वजह से पुलिस जांच में फूंक फूंक कर कदम रख रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें