scorecardresearch
 

दिल्ली: रेप का केस वापस नहीं लिया, तो अगवा करके हत्या कर दी

दिल्ली के बदरपुर इलाके के जैतपुर के सोनू हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. सोनू के अपहरण और हत्या के आरोप में प्रवीण नामक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. इसी आरोपी ने सोनू के भतीजी को अगवा कर रेप किया था.

दिल्ली में हत्या की वारदात का खुलासा दिल्ली में हत्या की वारदात का खुलासा

दिल्ली के बदरपुर इलाके के जैतपुर के सोनू हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. सोनू के अपहरण और हत्या के आरोप में प्रवीण नामक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. इसी आरोपी ने सोनू के भतीजी को अगवा कर रेप किया था. सोनू के समर्थन से ही पीड़िता ने आरोपी के खिलाफ केस किया था. आरोपी को जेल की सजा हुई थी.

जानकारी के मुताबिक, 29 मई की सुबह 34 साल के सोनू का अपहरण कर लिया गया था. उस वक्त वह किसी काम से जा रहा था. रास्ते में घात लगाए 6 बदमाशों ने हथियार के बल पर उसे अगवा कर लिया. उसे पलवल होते हुए अलीगढ़ की ओर ले गए. रास्ते में सोनू की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इसके बाद लाश को ठिकाने लगा दिया गया.

पुलिस के मुताबिक, आरोपी प्रवीण कोशिश कर रहा था कि किसी तरह सोनू उसके खिलाफ किए केस वापस ले ले, लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं था. इसी वजह से आरोपी ने सोनू की हत्या कर दी. पुलिस को चकमा देने के लिए हरियाणा के पलवल के पास सोनू की कार को जलाकर ठिकाने लगा दिया था. शव मिलने के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी.

पुलिस ने इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस और लोकल इंटेलिजेंस के जरिए बदरपुर थाने में जांच के लिए कई टीम बनाई. टीम ने जांच के बाद तीन आरोपियों को पकड़ लिया. पूछताछ के दौरान आरोपियों ने चौंका देने वाला खुलासा किया. उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी जो कि फिलहाल जमानत पर रिहा है, सोनू से अपने खिलाफ केस वापस लेने का दबाव बना रहा है.

अपरहण और कत्ल का केस सुलझा

वहीं, दिल्ली के नंद नगरी के रहने वाले एक 17 साल के नाबालिग के अपरहण और कत्ल का मामला सुलझ गया. नाबालिग लड़के अपहरण के बाद उसे रिहा करने के लिए एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई थी. पीड़ित को उसके चचेरे भाई ने ही अपने साथियों के साथ मिलकर अगवा किया था. इसके बाद उसका कत्ल कर नहर में शव बहा दिया.

हत्या की वारदात में तेजी से इजाफा

बताते चलें कि दिल्ली में हत्या की वारदात में तेजी से इजाफा हो रहा है. कुछ दिन पहले ही एक घरेलू नौकरानी की बर्बरता से हत्या कर दी गई. पीड़ित लड़की को झारखंड से नौकरी का झांसा देकर लाया गया था, लेकिन जब उसने सैलरी मांगी तो उसकी हत्या कर दी गई. सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया था.

बोरे में भरकर फेंकी गई थी लाश

पुलिस ने बताया कि लड़की को झारखंड से बहकाकर लाने वाले व्यक्ति ने ही उसकी हत्या की थी. 4 मई को मियावली इलाके से एक नाले से बोरे में भरकर फेंकी गई लड़की की लाश बरामद हुई थी. लड़की की लाश के तीन टुकड़े कर दिए गए थे. गिरफ्तार हत्यारोपी की पहचान मंजीत कारकेटा के तौर पर हुई है. उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें