scorecardresearch
 

'पिता जी, आप आत्महत्या न करें, इसलिए अपनी जिंदगी खत्म कर रही हूं'

महाराष्ट्र के परभनी में एक लड़की ने आत्महत्या कर ली. उसने मरने से पहले मराठी में एक सुसाइड नोट भी लिखा, जिसकी चर्चा हर जगह हो रही है. दरअसल, मृतका एक किसान की बेटी थी. उसके पिता की फसल बर्बाद हो गई थी. वे कर्ज में डूबे थे. लड़की को इस बात की चिंता थी कि उसके पिता को उसकी शादी की फिक्र होगी. इसलिए उसने यह खौफनाक कदम उठाया.

सारिका का सुसाइड नोट चर्चा का विषय बना हुआ है सारिका का सुसाइड नोट चर्चा का विषय बना हुआ है

महाराष्ट्र के परभनी में एक लड़की ने आत्महत्या कर ली. उसने मरने से पहले मराठी में एक सुसाइड नोट भी लिखा, जिसकी चर्चा हर जगह हो रही है. दरअसल, मृतका एक किसान की बेटी थी. उसके पिता की फसल बर्बाद हो गई थी. वे कर्ज में डूबे थे. लड़की को इस बात की चिंता थी कि उसके पिता को उसकी शादी की फिक्र होगी. इसलिए उसने यह खौफनाक कदम उठाया.

घटना परभनी की है. जहां सारिका नामक किशोरी ने मौत को गले लगा लिया. मरने से पहले उसने अपने पिता के लिए मराठी में एक सुसाइड नोट लिखकर छोड़ा था. जिसका हिंदी अनुवाद इस प्रकार है-

"प्यारे पापा,

आप के भाई ने पांच से छः दिन पहले खेत की तमाम फसल जल जाने पर आत्महत्या की और आप के सिर पर बहुत कर्ज है. आप ने कर्ज से लिए हुए पैसे से खेती की थी. लेकिन वह खेती भी जलने (बर्बाद होने) की वजह से आप का हाल और घर का तनाव मुझसे देखा नहीं जाता. अपने पिछले साल दीदी की शादी की थी. वह कर्ज भी अभी बाकी है. और आप पर मेरी शादी की जिम्मेदारी भी है. इसी वजह से आप भी अपने भाई की तरह आत्महत्या ना करें, इसलिए मैं अपनी जिंदगी खत्म कर रही हूं.

आपकी सारीका"

इस सुसाइड नोट के सामने आने पर पूरे घर में कोहराम मचा हुआ है. इस घटना की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है. आर्थिक तंगी से परेशान होकर आए दिन किसान आत्महत्या करते हैं. लेकिन यह शायद इस तरह का पहला मामला है, जिसमें एक बेटी ने पिता की परेशानी कम करने के मकसद से खुद अपनी जिंदगी खत्म कर ली.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें