scorecardresearch
 

जुर्मः जब दसवीं की छात्रा ने छुड़ाए बदमाशों के छक्के

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बदमाशों के हौंसले बुलंद हैं. आए दिन राजधानी में वारदातों को आंजाम देकर बदमाश पुलिस को चुनौती दे रहे हैं. ताजा मामला मड़ियांव इलाके का है जहां कार सवार बदमाशों ने स्कूल जा रही 10वीं की छात्रा को अगवा करने की कोशिश की. जब छात्रा ने विरोध किया तो एक बदमाश ने उस पर हमला कर दिया. बहादुर छात्रा ने डटकर बदमाशों का सामना किया.

छात्रा ने बदमाशों का जमकर मुकाबला किया छात्रा ने बदमाशों का जमकर मुकाबला किया

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बदमाशों के हौंसले बुलंद हैं. आए दिन राजधानी में वारदातों को आंजाम देकर बदमाश पुलिस को चुनौती दे रहे हैं. ताजा मामला मड़ियांव इलाके का है जहां कार सवार बदमाशों ने स्कूल जा रही 10वीं की छात्रा को अगवा करने की कोशिश की. जब छात्रा ने विरोध किया तो एक बदमाश ने उस पर हमला कर दिया. बहादुर छात्रा ने डटकर बदमाशों का सामना किया.

लखनऊ के मड़ियांव इलाके के पास रहने वाले शशिकांत पांडे की बेटी अंशिका कक्षा दस की छात्रा है. वह रोजाना साइकिल से अपने स्कूल जाती है. सोमवार की सुबह जब वह स्कूल जा रही थी. तभी नायक नगर में दो कार सवार लोगों ने उसे पता पूछने के बहाने रोक लिया. पहले उन्होंने अंशिका से पता पूछा और इसी बीच एक बदमाश उसे जबरन कार में बैठाने की कोशिश करने लगा.

अंशिका ने बहादुरी दिखाई और बदमाश का मुकाबला किया. खुद को नाकाम होते देख बदमाश ने छात्रा पर चाकू और ब्लेड से हमला कर दिया. छात्रा ने अपना बचाव किया तो किया लेकिन उसका हाथ जख्मी हो गया और चेहरे पर भी चोट आई. उन्होंने अंशिका पर कुछ एसिड़ जैसा पदार्थ भी फेंकने की कोशिश की. लेकिन वह बच गई और जोर से चिल्लाना शुरु कर दिया.

छात्रा की हिम्मत देखकर दोनों कार सवार बदमाश मौके से फरार हो गए. घायल छात्रा ने घटना की जानकारी अपने घरवालों को दी. परिजन छात्रा को साथ लेकर थाने पहुंचे और पुलिस को सारा माजरा बताया. पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरु कर दी है. लेकिन घटना के बाद से शशिकांत पांडे का परिवार दहशत में है. हालांकि लखनऊ में अंशिका की बहादुरी की चर्चा भी हो रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें