scorecardresearch
 

लखनऊ शूटआउट: विवेक तिवारी की पत्नी को मिला नगर निगम में OSD पद का ऑफर

विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना को लखनऊ नगर निगम की ओर से ओएसडी पद के लिए नौकरी का ऑफर मिला है.

X
कल्‍पना को मिला जॉब का ऑफर कल्‍पना को मिला जॉब का ऑफर

लखनऊ शूटआउट के शिकार ऐपल कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना को नगर निगम में नौकरी का ऑफर मिला है. लखनऊ नगर निगम का यह ऑफर ओएसडी (ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी) पद के लिए है.

नगर आयुक्त इंद्रमणि त्रिपाठी ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया, 'वह (कल्‍पना) पोस्ट ग्रेजुएट हैं. हमने सभी जरूरी दस्तावेज, फोटोग्राफ और डॉक्युमेंट ले लिए हैं. सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. अब हम आगे का कार्य करेंगे. उन्हें नगर निगम के किसी एक विभाग में नियुक्त किया जाएगा.' इससे पहले सीएम ऑफिस के ट्वीटर अकाउंट से बताया गया कि विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना को 25 लाख रुपये की आर्थिक मदद और दोनों बेटियों के नाम पांच - पांच लाख रुपये की एफ.डी. के कराने के निर्देश दिए गए हैं.

शुक्रवार रात की है घटना

बता दें कि लखनऊ के पॉश इलाके गोमती नगर में शुक्रवार रात यूपी पुलिस के एक कॉन्स्टेबल की ओर से ऐपल कंपनी के मैनेजर विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. मामले में आरोपी पुलिसकर्मी प्रशांत चौधरी और संदीप के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है. दोनों को नौकरी से बर्खास्त भी कर दिया गया है. दूसरी ओर, आरोपी पुलिस जवान ने खुद की आत्मरक्षा में गोली चलाने की बात कही है.

यूपी पुलिस की कार्यशैली पर उठे सवाल

इस घटना के बाद राज्य में बीजेपी के कई विधायकों और मंत्रियों ने यूपी पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए. हरदोई विधायक रजनी तिवारी, बरेली के विधायक राजेश कुमार मिश्र और लखनऊ से विधायक और योगी सरकार में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने भी चिट्ठी लिख यूपी पुलिस को घेरे में लिया है. पूर्व केंद्रीय मंत्री और यूपी बीजेपी के बड़े नेता कलराज मिश्र ने भी पुलिस विभाग पर धब्बा बताया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें