scorecardresearch
 

आशीष पांडे के नाम थे 3 हथियारों के लाइसेंस, शासन ने किए सस्पेंड

आशीष पांडे के पास एक .32 बोर की पिस्टल, एक .12 बोर की दो नाली बंदूक और .315 बोर की राइफल है. जिसका अखिल भारतीय लाइसेंस उसके पास था.

पिस्टलकांड के आरोपी आशीष पांडे ने दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर कर दिया है पिस्टलकांड के आरोपी आशीष पांडे ने दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर कर दिया है

यूपी की राजधानी लखनऊ के रंगबाज़ आशीष पांडे की रंगबाज़ी तो पूरे देश ने खूब देख ली. अब ज़रा उनके पिस्टल और अन्य हथियारों के बारे में आपको बताते हैं. घटना के दिन दिल्ली के पांच सितारा होटल में उनके हाथ में मौजूद पिस्टल बहुत आधुनिक है. जिसका बोर .32 है.

दरअसल, 13/14 अक्टूबर की देर रात दिल्ली के मशहूर पांच सितारा होटल हयात रीजेंसी के अहाते में आशीष के हाथ में जो पिस्टल मौजूद थी. उसे देखकर कर ही किसी ने उसे रोकने की हिम्मत नहीं की. जब 15 अक्टूबर को घटना का वीडियो वायरल हुआ तो उस पिस्टल ने सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा.

16 अक्टूबर को आशीष पांडे और उनकी पिस्टल दिनभर देश की मीडिया में छाई रही. सब की नज़र इस आशीष पांडे के दबंग अंदाज और उनकी पिस्टल पर थी. हालांकि उनकी गुलाबी पैंट भी कम नहीं थी. इस पिस्टल और दबंगई की वजह से आशीष ऐसे फंसे कि अब उन्हें अदालत के सामने सरेंडर करना पड़ा.

आशीष अपनी पिस्टल को अब कभी भी कहीं दिखा या लहरा नहीं पाएंगे. यूपी पुलिस के मुताबिक पूर्व सांसद के बेटे और बसपा विधायक के भाई आशीष पांडे रीयल एस्टेट कारोबारी हैं. उनके पास तीन हथियारों के लाइसेंस थे, जिन्हें अब निलंबित कर दिया गया है.

अम्बेडकर नगर के पुलिस अधीक्षक विपिन कुमार मिश्रा ने बताया कि आशीष पांडे के पास एक .32 बोर की पिस्टल, एक .12 बोर की दोनाली बंदूक और .315 बोर की राइफल है. जिसका अखिल भारतीय लाइसेंस उसके पास था.

जिलाधिकारी सुरेश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना के सामने आने पर आशीष पांडे के तीनों लाइसेंस निलंबित कर दिये गए हैं. साथ ही अकबरपुर के कोतवाली पुलिस थाना क्षेत्र स्थित उनके पते पर इस आशय का नोटिस भी भेज दिया गया है.

वीडियो वायरल होने के बाद पीड़ित ने दिल्ली पुलिस को दिए गए अपने बयान में कहा कि आशीष पांडे ने अपनी पिस्तौल निकाल ली और चिल्लाया, ‘‘मैं तुम्हें मार दूंगा’’ जिसकी वजह से वह इस हद तक डर गया कि पुलिस के पास शिकायत लेकर भी नहीं गया.

यूपी के एडीजी आनंद कुमार ने बताया कि वीडियो में आशीष पांडे के हाथ में जो हथियार दिख रहा था, उसका लाइसेंस 1999 में अंबेडकर नगर जिले से ही जारी किया गया था. जिसे अब सस्पेंड कर दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें