scorecardresearch
 

सोमनाथ के वकील ने केजरीवाल को लिखी चिट्ठी, किया मोदी की तारीफ

दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा झटका दिया है. कोर्ट ने कहा है कि सोमनाथ की जमानत पर तब तक विचार नहीं होगा, जब तक वो सरेंडर नहीं करते. उन्हें आज शाम साढ़े 6 बजे तक सरेंडर करना होगा. पूरे मामले पर अब गुरुवार को सुनवाई होगी. इससे पहले सोमनाथ के वकील दीपक खोसला ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी को चिट्ठी लिखा है.

सोमनाथ के वकील ने केजरीवाल के साथ-साथ दिल्ली पुलिस को भी चिट्ठी लिखी है. सोमनाथ के वकील ने केजरीवाल के साथ-साथ दिल्ली पुलिस को भी चिट्ठी लिखी है.

दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा झटका दिया है. कोर्ट ने कहा है कि सोमनाथ की जमानत पर तब तक विचार नहीं होगा, जब तक वो सरेंडर नहीं करते. उन्हें आज शाम साढ़े 6 बजे तक सरेंडर करना होगा. पूरे मामले पर अब गुरुवार को सुनवाई होगी. इससे पहले सोमनाथ के वकील दीपक खोसला ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी को चिट्ठी लिखा है.

इस चिट्ठी के माध्यम से दीपक खोसला ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से सोमनाथ का केस दिल्ली से बाहर किसी ऐसे राज्य में ट्रांसफर कराने की अपील की है, जहां बीजेपी का शासन नहीं हो. खोसला ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि केजरीवाल और मोदी के तरीके में बड़ा फर्क है. एक तरफ मोदी जहां अपने लोगों के लिए अंतिम समय तक खड़े रहते हैं, वहीं केजरीवाल ने सोमनाथ का साथ छोड़ दिया है.

सोमनाथ के वकील ने DP को लिखी चिट्ठी
सोमनाथ के वकील ने केजरीवाल के साथ-साथ दिल्ली पुलिस को भी चिट्ठी लिखी है. इसमें उन्होंने लिखा है कि सोमनाथ के लिए भगोड़ा, पेशेवर अपराधी जैसे शब्दों का इस्तेमाल ना किया जाए. वह कोई पेशेवर या शातिर अपराधी नहीं हैं. उनके खिलाफ राजनीति से प्रेरित होकर पुलिस कार्रवाई न करे. इस चिट्ठी में दिल्ली पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी की जमकर आलोचना की गई है.

संजय सिंह ने कहा- सरेंडर करें सोमनाथ
उधर, AAP नेता संजय सिंह ने कहा कि हमारे नेता अरविंद केजरीवाल ने पहले ही कह दिया है कि सोमनाथ को सरेंडर कर देना चाहिए. उन्हें अपना पक्ष रखना चाहिए, क्योंकि इससे पार्टी और परिवार दोनों कि इज्जत खराब हो रही है. इसके साथ उन्होंने कहा कि पुलिस सोमनाथ की तरह उमा भारती, कठेरिया आदि बीजेपी नेताओं पर भी एक्शन लेना चाहिए, जिन पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें