scorecardresearch
 

जयपुर के आश्रम में लिखा मिला- 'रात को बाबा की याद में सोएंगे तो सुबह को बाबा आकर खटिया हिलाएंगे'

दिल्ली में आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के नाम पर अय्याशी का आश्रम चलाने वाले ढोंगी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के जयपुर आश्रम पर छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया गया. जहां से पुलिस ने कई लड़कियां बरामद की हैं, जिनमें नाबालिग लड़किया भी शामिल हैं.

आश्रम इसी तरह से कई संदिग्ध बातें लिखी हुई मिली हैं आश्रम इसी तरह से कई संदिग्ध बातें लिखी हुई मिली हैं

दिल्ली में आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के नाम पर अय्याशी का आश्रम चलाने वाले ढोंगी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के जयपुर आश्रम पर छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया गया. जहां से पुलिस ने कई लड़कियां बरामद की हैं, जिनमें नाबालिग लड़किया भी शामिल हैं.

हाइ कोर्ट के आदेश पर दिल्ली में गुरुवार को वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रम पर छापे के दौरान 41 लड़कियों को मुक्त कराया गया था. इस के बाद जयपुर पुलिस के सामने एक बलात्कार का मामला आया और पुलिस हरकत में आ गई. इसी के बाद वहां मौजूद बाबा के आश्रम पर छापा मारा गया.

इस दौरान वहां के आश्रम से 15 से 30 वर्ष तक की लड़किया बरामद की गई हैं. पुलिस इन लड़कियों की पहचान और वेरिफिकेशन कर रही है. आश्रम के आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि वहां रहने वाले लोग कभी भी किसी से बातचीत नहीं करते हैं. वे अपने आप को कमरे के अंदर बंद रखते हैं. ऐसे में पता नहीं चल पाता है कि अंदर क्या ये लोग क्या करते हैं.

दरअसल, पुलिस ने छापे की यह कार्रवाई बलात्कार की एक घटना का खुलासा होने के बाद की. झुंझुनू जिले की एक लड़की अपनी मां के साथ 4 साल पहले जयपुर के आश्रम में आई थी. इसके बाद वह लड़की आश्रम से गायब हो गई. जब उसका कुछ पता नहीं चला तो मां-बाप ने जयपुर के झोटवाड़ा थाने में बेटी की गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज कराया.

jaipur_Baba

मगर लड़की का कुछ पता नहीं चला. तब मां-बाप अपनी एक रिश्तेदार के जरिए दिल्ली में रहने वाले एक पुलिस अधिकारी के पास पहुंचे. तब जाकर इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई की. जयपुर के इस आश्रम में कई लड़कियां रह रही हैं. इन लड़कियों को बाहर निकलने की इजाजत नहीं है. गेट में एक छोटा सा छिद्र बनाया गया है, जिसके जरिए वे अंदर से बातचीत करती हैं.

आश्रम में बेहद संदेहास्पद बातें लिखी हुई हैं, जैसे अंदर लिखा हुआ है 'रात को बाबा की याद में सोएंगे तो सुबह बाबा आकर खटिया हिलाएंगे.' इस तरह की कई बातें वहां लिखी हुई हैं. पुलिस ने आश्रम के अंदर से ऐसी लिखित सामग्री बरामद की है, जिसमें वीरेंद्र को बाप बताते हुए लड़कियों को पूरी तरह से समर्पण करने के लिए कहा गया है.

बाप यानी वीरेंद्र देव को भगवान बताते हुए उसकी मुरली पर खुद को समर्पित करने की बातें भी एक आध्यात्मिक पर्चे में लिखी हुई हैं. अंदर आश्रम में लड़कियां 15 साल से लेकर 30 साल तक की लड़कियां मिली हैं. पुलिस इन सब के बारे में जानकारी जुटा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें