scorecardresearch
 

LIVE वीडियो में ISIS ने दो सैनिकों को जिंदा जलाते दिखाया

कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के जिहादियों ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें तुर्की के पकड़े गए दो सैनिकों को जिंदा जलाते हुए दिखाया गया है. जिहादियों की वेबसाइट पर पोस्ट किए गए वीडियो में दिख रहा है कि वर्दी पहने हुए दो सैनिकों को आग लगाने से पहले घसीटकर पिंजरे से निकाला गया और बांध दिया गया, फिर उन्हें जलाया गया.

X
तुर्की सैनिकों को जिंदा जलाया तुर्की सैनिकों को जिंदा जलाया

कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के जिहादियों ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें तुर्की के पकड़े गए दो सैनिकों को जिंदा जलाते हुए दिखाया गया है. जिहादियों की वेबसाइट पर पोस्ट किए गए वीडियो में दिख रहा है कि वर्दी पहने हुए दो सैनिकों को आग लगाने से पहले घसीटकर पिंजरे से निकाला गया और बांध दिया गया, फिर उन्हें जलाया गया.

जानकारी के मुताबिक, 19 मिनट का यह वीडियो उत्तरी सीरिया के आईएस घोषित अलेप्पो प्रांत में बनाया गया है. इस वीडियो में सैनिकों को मारने वाला व्यक्ति तुर्की भाषा में बोल रहा था. उसने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयीप एर्दोगन पर मौखिक रूप से हमला बोला और तुर्की में विनाश करने की धमकी दी. आईएसआईएस समय-समय पर ऐसे वीडियो जारी करता है.

इस वीडियो से जॉर्डन के लड़ाकू विमान के पायलट माज-अल-कसाबे की याद भी आती है, जिसे उस समय सीरिया में जिहादियों ने पकड़ लिया था, जब दिसंबर 2004 में उसका विमान सीरिया में उतरा था. इस पायलट को भी पिंजरे में डाल कर जिंदा जला दिया गया था. समाचार एजेंसी अमाक ने कहा था कि जिहादियों ने तुर्की के दो सैनिकों का अपहरण कर लिया है.

हवाई हमले में 47 लोगों की मौत
उधर, आईएस नियंत्रित सीरियाई शहर अल-बाब में तुर्की के हवाई हमले में 47 लोगों की मौत हो गई, जिनमें 14 नाबालिग और नौ महिलाएं शामिल हैं. सीरियन ऑब्जर्वेटरी ऑफ ह्यूमन राइट्स ने कहा है कि हमले में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं. कई अभी मलबे में फंसे हुए हैं. ऑब्जर्वेटरी ने मृतकों की संख्या में इजाफा होने की आशंका व्यक्त ही है.

विमानों और टैंकों से किया हमला
समाचार एजेंसी 'एफे' रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार का यह हवाई हमला बुधवार को अल-बाब के आसपास के क्षेत्र में तुर्की के सैनिकों के खिलाफ आतंकवादियों के हमलों में 14 तुर्की सैनिकों के मारे जाने और अन्य 33 के घायल होने के बाद किया गया है. तुर्की के विमानों और टैंकों की मदद से बुधवार को अल-बाब के बाहरी इलाके में एक अभियान शुरू किया था.

कार बम हमले में 23 की मौत
इराक में इस्लामिक स्टेट के आखिरी गढ़ मोसूल के पास उससे हाल में वापस लिए गए एक शहर के बाजार में तिहरे कार बम विस्फोट में 23 लोग मारे गए हैं. आईएस से लड़ रहे बलों के लिए बने एक समन्वय केंद्र ने बयान में कहा कि गोगजाली में एक बाजार में तीन कार बम विस्फोटों की शक्ल में हुए आतंकी हमले में 15 नागरिक और आठ पुलिसकर्मी मारे गए हैं.

आईएसआईएस ने ली जिम्मेदारी
आईएस ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि यह हमले तीन फिदायीन हमलावरों ने अंजाम दिए हैं. मोसूल से कुछ किलोमीटर दूर गोगजाली को एक नवंबर को सरकार समर्थित बलों ने वापस लिय था. इराके में आईएस के नियंत्रण वाले अंतिम शहर को वापस लेने के लिए कई हफ्तों से व्यापक अभियान चल रहा है. दोनों सेनाओं शह-मात का खेल खेल रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें