scorecardresearch
 

IS से जुड़े भारतीय ने कबूला- पेरिस हमले में शामिल आतंकी था मेरा लीडर

आईएसआईएस से जुड़े तमिलनाडु के सुबाहानी हाजा मोइदीन ने पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा किया है. पूछताछ में आरोपी ने पेरिस में हुए आतंकी हमले में शामिल आतंकी को अपना लीडर बताया है.

X
आईएस आतंकी के किया खुलासा आईएस आतंकी के किया खुलासा

आईएसआईएस से जुड़े तमिलनाडु के सुबाहानी हाजा मोइदीन ने पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा किया है. पूछताछ में आरोपी ने पेरिस में हुए आतंकी हमले में शामिल आतंकी को अपना लीडर बताया है. सुबाहानी पाकिस्तान, अफगानिस्तान और अन्य देशों के जिहादियों के साथ सीरिया में आईएस की ओर से लड़ाई लड़ चुका है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकी संगठन आईएस से जुड़े रहे सुबाहानी हाजा मोइदीन ने पिछले साल पेरिस हमले में शामिल आतंकियों में से एक को अपना लीडर बताया है. इस हमले में 130 लोगों की मौत हो गई थी. इराक में आईएस की ओर से जंग में शामिल हो चुके मोइदीन ने पूछताछ में और भी कई अहम खुलासे किए.

31 साल के सुबाहानी हाजा मोइदीन को इसी महीने राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) ने गिरफ्तार किया था. मोइदीन पिछले साल अप्रैल में चेन्नई से इस्तांबुल गया था. इसके बाद वह पाकिस्तान, अफगानिस्तान और अन्य देशों के जिहादियों के साथ सीरिया पहुंच गया था. मोइदीन ने पूछताछ में सीरिया में आईएस की ओर से जंग लड़ने की भी बात कही.

सुरक्षा एजेंसी के अधिकारी के मुताबिक, मोइदीन तुर्की से इराक पहुंच गया था. वहां उसने एके-47 और ग्रेनेड लॉंचर चलाना सीखा. साथ ही मोइदीन ने वहां बम बनाने की भी ट्रेनिंग ली. पूछताछ के दौरान उसने पेरिस अटैक में शामिल अब्देलहामिद अबाउद, सालाह अब्देसलाम और अपने बचपन के एक दोस्त का नाम लिया.

चोट लगने के बाद लौटा था भारत
मोइदीन ने पूछताछ में आगे बताया कि घुटने में चोट लगने के बाद वह 22 सितंबर, 2015 को भारत लौट आया था. भारत आने के बाद वह आतंकी घटनाओं की पूरी जानकारी रखता था. पेरिस हमले के बाद मोइदीन को इस बात की जानकारी थी कि इस हमले में उसका लीडर शामिल है. हालांकि मोइदीन ने कहा कि उसका पेरिस अटैक की योजना से कोई लेना-देना नहीं था.

एनआईए को था स्लीपर सेल होने का शक
गौरतलब है कि मोइदीन हाल ही में एनआईए के रडार पर आया था. एनआईए को मोइदीन के आईएस के स्लीपर सेल होने का शक था. एनआईए के मुताबिक, मोइदीन आतंक के आकाओं के अगले आदेश तक भारत में शांति से रहने के मकसद से आया था. वहीं हाल ही में यह खबर भी आई थी कि मोइदीन आरएसएस नेताओं और केरल हाईकोर्ट के जजों पर हुए हमले की साजिश में भी शामिल था.

'हो सकता है कि मोइदीन झूठ बोल रहा हो'
बता दें कि फ्रेंच पुलिस ने आतंकी अब्देलहामिद को मार गिराया था. वहीं फ्रेंच सुरक्षा एजेंसियों ने बेल्जियम से ही सालाह अब्देसलाम को पकड़ा था. हालांकि एनआईए के अधिकारी ने यह भी कहा कि 'हो सकता है कि मोइदीन झूठ बोल रहा हो, इसलिए हम उससे लंबी पूछताछ करना चाहते हैं ताकि हमें उससे और जानकारी मिल सके.' सूत्रों की माने तो मोइदीन के बयानों को एनआईए फ्रेंच जांच एजेंसीज से साझा कर सकती है. जिसके बाद फ्रेंच अथॉरिटीज भी मोइदीन से पूछताछ के लिए भारत आ सकती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें