scorecardresearch
 

हैदराबाद: गैंगरेप के आरोपी के पिता ने एनकाउंटर पर उठाए सवाल, मांगा न्याय

दिशा गैंगरेप के आरोपी चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुलु की पत्नी रेनुका और आरोपी जोलू शिवा के पिता ने पुलिस एनकाउंटर पर सवाल उठाए हैं. साथ ही न्याय की मांग की है.

साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर (Coutesy- PTI) साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर (Coutesy- PTI)

  • आरोपी के पिता ने कहा- ऐसे नहीं किया जाता किसी का खात्मा
  • आरोपी की पत्नी ने कहा- मुझको भी ले जाकर मार डाले पुलिस
  • हाईकोर्ट ने पुलिस को दिया शवों को सुरक्षित रखने का आदेश
हैदराबाद में पुलिस एनकाउंटर में मारे गए दिशा गैंगरेप और हत्याकांड के आरोपियों के परिजनों ने पुलिस पर सवाल उठाए हैं और न्याय मांगा है. दिशा गैंगरेप के आरोपी चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुलु की पत्नी रेनुका के बाद अब आरोपी जोलू शिवा के पिता सामने आए हैं और एनकाउंटर को गलत बताया है.

पुलिस एनकाउंटर में मारे गए आरोपी जोलू के पिता ने कहा, ‘हो सकता है कि उसने अपराध किया हो, लेकिन उसका ऐसे खात्मा नहीं होना चाहिए. कई लोगों ने रेप और हत्याएं की, लेकिन उनको इस तरह से नहीं मारा गया.’ इसके अलावा दिशा गैंगरेप के आरोपी चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुलु की पत्नी रेनुका ने कहा, 'मेरे पति की मौत के बाद कुछ नहीं बचा है. पुलिस मुझे भी एनकाउंटर वाली जगह ले चले और मार डाले.' चिंताकुंटा की पत्नी गर्भवती भी हैं.

न्याय की मांग करते हुए रेनुका ने कहा, 'मुझसे कहा गया था कि मेरे पति को कुछ नहीं होगा. वह जल्द ही वापस लौट आएगा. अब समझ में नहीं आ रहा कि क्या करूं? अब पुलिस मुझको भी उस जगह लेकर चले जहां मेरे पति को मारा गया है और मुझको भी मार डाले.'

दिशा गैंगरेप के आरोपी 20 वर्षीय चिंताकुंटा की रेनुका के हाल ही में शादी हुई थी. वह तेलंगाना के नारायणपेट जिले के गुडीगांडला गांव का रहने वाला था. बताया जा रहा है कि चिंताकुंटा किडनी से जुड़ी बीमारी से जूझ रहा था. हैदराबाद के स्थानीय लोगों का कहना है कि डॉक्टर दिशा के सभी चारों आरोपी बेहद गरीब परिवार से आते थे और कम पढ़े-लिखे थे. हालांकि अब पैसा कमाने लगे थे और शराब पीने लगे थे.

न्यायिक हिरासत से पुलिस हिरासत में भेजे गए थे आरोपी

डॉ दिशा के चारों आरोपियों मोहम्मद आरिफ, जोलू शिवा, जोलू नवीन और चिंताकुंटा को कोर्ट ने पुलिस रिमांड पर भेजा था. इन पर 27 नवंबर की रात डॉक्टर दिशा के साथ गैंगरेप करने और फिर उसकी हत्या करके शव को जलाने का आरोप था. इन आरोपियों के मारे जाने से डॉक्टर दिशा के परिजन खुश हैं, जबकि आरोपियों के परिजन समेत अन्य तीखे सवाल उठा रहे हैं.

पुलिस ने गैंगरेप के आरोपियों को ऐसे किया ढेर

तेलंगाना पुलिस ने हैदराबाद में डॉक्टर दिशा के साथ गैंगरेप करने और फिर उसकी हत्या करने के आरोपियों को शुक्रवार को मुठभेड़ में ढेर कर दिया है. साइबराबाद पुलिस आयुक्त वी. सी. सज्जनार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि आरोपियों को क्राइम सीन पर लाया गया था, ताकि डॉक्टर दिशा का मोबाइल, पर्स समेत दूसरे सामान बरामद किए जा सकें.

उन्होंने बताया कि क्राइम सीन रिक्रिएट करने के दौरान आरोपियों ने पुलिस पर पत्थरों से हमला कर दिया और 2 हथियार छीनकर भागने लगे. इसके जवाब में पुलिस ने फायरिंग की और चारों आरोपियों को ढेर कर दिया. पुलिस का यह भी दावा है कि जब ये आरोपी हथियार छीनकर भाग रहे थे, तो इनको सरेंडर करने के लिए कहा गया था. हालांकि आरोपियों ने सरेंडर करने से इनकार कर दिया था और पुलिस पर हमला करने लगे थे.

हाईकोर्ट ने हैदराबाद एनकाउंटर को लिया संज्ञान

वहीं, तेलंगाना हाईकोर्ट ने हैदराबाद एनकाउंटर का संज्ञान ले लिया है और पुलिस को एनकाउंटर में मारे गए आरोपियों के शवों को सुरक्षित रखने का आदेश दिया है. इस एनकाउंटर के खिलाफ दायर रिट पीटिशन पर तेलंगाना हाईकोर्ट सोमवार सुबह साढ़े 10 बजे सुनवाई करेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें