scorecardresearch
 

प्लेसमेंट एजेंसियों की आड़ में मानव तस्करी, कई लड़कियां लापता

दिल्ली में प्लेसमेंट एजेंसियों की आड़ में मानव तस्करी का मामला उजागर होने के बाद पुलिस जांच में जुटी है. पुलिस को पता चला है कि इन एजेंसियों पर काम के लिए कई राज्यों से लाई गईं करीब दो सौ लड़कियां लापता हैं. जिनका कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

पुलिस मानव तस्करी करने वाली इन एजेंसियों की जांच में जुटी है पुलिस मानव तस्करी करने वाली इन एजेंसियों की जांच में जुटी है

दिल्ली में प्लेसमेंट एजेंसियों की आड़ में मानव तस्करी का मामला उजागर होने के बाद पुलिस जांच में जुटी है. पुलिस को पता चला है कि इन एजेंसियों पर काम के लिए कई राज्यों से लाई गईं करीब दो सौ लड़कियां लापता हैं. जिनका कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

दिसंबर 2016 में दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे नेटवर्क का खुलासा किया था, जो घरों में काम दिलाने और फेक्ट्रियों में नौकरी दिलाने के नाम पर कई राज्यों से लड़कियों को तस्करी करके दिल्ली लाता था. पुलिस को पता चला कि इस काम को अंजाम देने में बिना लाइसेंस वाली 12 अवैध प्लेसमेंट एजेंसियां शामिल हैं.

एजेंट इन लड़कियों को काम दिलाने के नाम पर लाते थे और अवैध एजेंसियों को सौंप देते थे. ये सभी वो एजेंसियां हैं जिनके पास इस काम के लिए कोई लाइसेंस नहीं है. पुलिस को जांच के दौरान पता चला कि ये एजेंसियां इन लड़कियों का पुलिस वेरिफिकेशन भी नहीं कराती थी.

जानकारी के मुताबिक पिछले करीब डेढ दशक से ये अवैध प्लेसमेंट एजेंसियां मानव तस्करी का कारोबार कर रही हैं. इन एजेंसियों के एजेंट झारखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, असम, पश्चिम बंगाल और बिहार जैसे राज्यों से गरीब और ज़रूरतमंद परिवारों की लड़कियों को बहला फुसलाकर दिल्ली लाते थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें