scorecardresearch
 

मनालीः रूसी महिला पर्यटक को अगवा कर गैंगरेप, आरोपियों की पहचान नहीं

कुल्लू की पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि गैंगरेप पीड़िता आरोपियों को नहीं पहचानती है. जिस वक्त उसके साथ बलात्कार हुआ, उस वक्त वह अपने होटल लौट रही थी.

पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है

हिमाचल प्रदेश की प्रसिद्ध पर्यटन नगरी मनाली को गैंगरेप की एक ताजा घटना से फिर शर्मसार होना पड़ा. मनाली थाने में दर्ज की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक गुरुवार की रात दो अज्ञात लोगों ने राह चलती एक रशियन मूल की पर्यटक के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दे डाला और मौके से फरार हो गए.

पुलिस को दी गई सूचना के मुताबिक पीड़ित महिला पर्यटक दो-तीन दिन पहले ही मनाली घूमने के लिए पहुंची थी. वीरवार रात को अकेले ही वह पुरानी मनाली की तरफ जा रही थी, कि दो अज्ञात लोग उसे अगवा कर एक सुनसान जगह पर ले गए और वहां उसके साथ बलात्कार किया.

गैंगरेप पीड़ित महिला द्वारा बताए गए हुलिए के मुताबिक इस घटना में नेपाली मूल के 2 लोग शामिल हो सकते हैं. पुलिस फिलहाल आरोपियों के बारे में कुछ ज्यादा जानकारी नहीं दे रही है.

कुल्लू की पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि गैंगरेप पीड़िता आरोपियों को नहीं पहचानती है. जिस वक्त उसके साथ बलात्कार हुआ, उस वक्त वह अपने होटल लौट रही थी. पुलिस फिलहाल घटनास्थल के आसपास लगे मोबाइल टावरों के करीब एक्टिव रहे मोबाइल फोन का डेटा भी खंगाल रही है.

पुलिस के अनुसार यह सारा वाकया अंधेरे में हुआ. आसपास कोई सीसीटीवी कैमरा भी नहीं था, इसलिए पुलिस को आरोपियों तक पहुंचने में काफी मशक्कत करनी पड़ सकती है.

यह पहली दफा नहीं है, जब कुल्लू और मनाली पर्यटन स्थलों में किसी विदेशी महिला को हवस का शिकार बनाया गया है. इससे पहले भी कई बार विदेशी महिलाओं के साथ लूटपाट और गैंग रेप जैसी घटनाएं हो चुकी हैं.

मई 2018 में जापान की युवती से कुल्लू के समीप एक चालक ने दुष्कर्म किया था. वहीं 2016 में इजरायल की विदेशी महिला पर्यटक के साथ दुष्कर्म हुआ था. इससे पहले वर्ष 2013 में नेपाली मूल के तीन व्यक्तियों ने एक अमेरिकी महिला से लूटपाट के बाद गैंग रेप की घटना को अंजाम दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें