scorecardresearch
 

हरियाणाः लूट और गैंगरेप का शिकार बनी दोनों महिलाएं थीं गर्भवती

हरियाणा के गुड़गांव में लूट और सामूहिक बलात्कार का शिकार बनी दोनों महिलाएं गर्भवती हैं. इस बात खुलासा पुलिस ने जांच के बाद किया है. हालांकि चार दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं.

घटना के चार दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं घटना के चार दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं

हरियाणा के गुड़गांव में लूट और सामूहिक बलात्कार का शिकार बनी दोनों महिलाएं गर्भवती हैं. इस बात खुलासा पुलिस ने जांच के बाद किया है. हालांकि चार दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं.

गुड़गांव से तीस किलोमीटर दूर पटौदी इलाके के मंदिपुरा गांव में बंदूक नोक पर दो महिलाओं के साथ चार दिन पहले लूटपाट और सामूहिक बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया गया था. इस घटना के आरोपी अभी भी पुलिस की पहुंच से बाहर है.

जबकि पुलिस ने खुलासा किया है कि बदमाशों का शिकार बनी दोनों महिलाएं गर्भवती हैं. दोनों पीड़ित महिलाएं असुरक्षा और बेइज्जती के भाव से परेशान हैं. जानकारी के मुताबिक दोनों पीड़िताएं अपने घर लौटना चाहती हैं. लेकिन उन्हें इस बात का डर सता रहा है कि मामले से पर्दा उठने के बाद आरोपी उनके पति और अजन्मे बच्चे को न मार दें.

वारदात के बाद डीसीपी क्राइम सुमित कहाड़ के नेतृत्व बनी एसआईटी आरोपियों के गिरफ़्तारी के गुड़गांव समेत आस-पास के जिलों में छापेमारी कर रही है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश से भी इनपुट जमा किए जा रहे हैं. हैरानी की बात ये है कि पुलिस के हाथ अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है.

गौरतलब है कि बीते शनिवार की रात करीब साढ़े बारह बजे सात से आठ की संख्या में बदमाशों ने एक सुनसान इलाके में बनी फैक्ट्री पर धावा बोल दिया था. वहां बंदूक की नोक पर बदमाशों ने कंपनी के वर्करों से लूटपाट की थी और दो महिलाओं से सामूहिक बलात्कार भी किया था.

बदमाशों ने वारदात के बाद फैक्ट्री में ही रुककर मुर्गा बनाकर खाया था और शराब भी पी थी. इस मामले में हरियाणा महिला आयोग की टीम भी मौके का दौरा करने वाली है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें