scorecardresearch
 

रिश्वत मांगता था भोंडसी जेल का दरोगा, विजिलेंस टीम ने दबोचा

गुड़गांव की भोंडसी जेल में तैनात एक सब इंस्पेक्टर को विजिलेंस टीम ने उस वक्त रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया, जब वह डेढ़ लाख रुपये की रिश्वत वसूल कर रहा था. आरोपी जेल में हत्या के आरोप में बंद एक कैदी के परिवार वालों से लगातार रिश्वत मांग रहा था. तब उस परिवार ने विजिलेंस विभाग को शिकायत की थी.

X
आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद विजिलेंस टीम मामले की जांच कर रही है आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद विजिलेंस टीम मामले की जांच कर रही है

गुड़गांव की भोंडसी जेल में तैनात एक सब इंस्पेक्टर को विजिलेंस टीम ने उस वक्त रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया, जब वह डेढ़ लाख रुपये की रिश्वत वसूल कर रहा था. आरोपी जेल में हत्या के आरोप में बंद एक कैदी के परिवार वालों से लगातार रिश्वत मांग रहा था. तब उस परिवार ने विजिलेंस विभाग को शिकायत की थी.

गुड़गांव की विजिलेंस टीम ने एक शिकायत के आधार पर भोंडसी जेल में तैनात कृपा राम नामक सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार कर लिया. उस पर इल्जाम है कि वह हत्या मामले में जेल में बंद एक सब इंस्पेक्टर की बीवी से जबरन रिश्वत की मांग कर रहा था. वह आरोपी कैदी को दूसरी जेल में शिफ्ट करने के नाम पर उसके परिवार से पैसों की मांग रहा था.

आरोपी दरोगा जेल में बंद लोगों को सुविधा देने के नाम पर उनके परिजनों से मोटी रिश्वत की मांग करता था. इस संबंध में मनीष भारद्वाज ने विजिलेंस टीम को शिकायत दर्ज कराई. उनकी शिकायत पर विभाग ने एक टीम का गठन किया और जाल फैलाकर आरोपी दरोगा को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

बताते चलें कि बीते दो से तीन महीनों के दौरान भोंडसी जेल में कई बार मोबाइल फोन, सिमकार्ड और बैटरियों के मिलने से जेल की काफी किरकिरी हुई है. ऐसे में इस कृपा राम की गिरफ्तारी के बाद ऐसे तमाम मामलों का खुलासा भी हो सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें