scorecardresearch
 

'ठग गैंग' का भंडाफोड़, 12 हजार रुपये में दिलाते थे विदेश में नौकरी, एक अरेस्ट

विदेश में नौकरी का ख्वाब देख रहे सैकड़ों लोग उनके इस झांसे में आ गए. यह गैंग दिखावे के लिए लोगों से उनका पासपोर्ट भी मंगवाता था.

आरोपी के पास से मिले 155 पासपोर्ट आरोपी के पास से मिले 155 पासपोर्ट

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में विदेश भेजने के नाम पर ठगी करने वाले एक गैंग का भंडाफोड़ हुआ है. पुलिस ने गैंग के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है. आरोपी के पास से पुलिस ने 155 पासपोर्ट बरामद किए. गैंग के फरार चल रहे दो बदमाशों की तलाश जारी है.

मामला गाजियाबाद के विजयनगर इलाके का है. गिरफ्त में आए आरोपी का नाम कमलेश प्रसाद है. पुलिस के मुताबिक, कमलेश ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर 'के.एस. मक्का अल-जजीरा' नामक एक फर्जी कंपनी शुरू की थी. तीनों आरोपी 12 हजार रुपये में विदेश में नौकरी दिलाने का दावा करते थे.

विदेश में नौकरी का ख्वाब देख रहे सैकड़ों लोग उनके इस झांसे में आ गए. यह गैंग दिखावे के लिए लोगों से उनका पासपोर्ट भी मंगवाता था. इस गैंग ने लगभग 200 लोगों को अपने ठगी के जाल में फंसाया और लाखों रुपये ऐंठकर फरार हो गए. पीड़ितों ने इंदिरापुरम और विजयनगर थाने में इसकी शिकायत की.

पुलिस ने शिकायत की तस्दीक करने के बाद कमलेश को धर दबोचा. इस दौरान उसके दोनों साथी वहां से फरार हो गए. पुलिस के मुताबिक, इस गैंग का नेटवर्क यूपी के साथ-साथ दिल्ली, बिहार, उत्तराखंड समेत कई राज्यों में फैला हुआ था. आरोपी विज्ञापनों के माध्यम से अपना प्रचार करते थे.

पुलिस ने कमलेश और उसके दोनों साथियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. फरार बदमाशों की तलाश में दबिश दी जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें