scorecardresearch
 

यूपीः MBBS के नाम पर ठगी करने वाले 2 शातिर गिरफ्तार

एसटीएफ के मुताबिक आशीष और सुधीर ने गाजियाबाद में अपना ऑफिस बना रखा था. वे अपने ऑफिस से छात्र और छात्राओं को कॉल करते और उन्हें कोटे से एमबीबीएस में एडमिशन दिलाने का झांसा देते थे.

X
पुलिस मामले की छानबीन कर रही है
पुलिस मामले की छानबीन कर रही है

एसटीएफ यूपी ने MBBS के नाम पर ठगी करने दो शातिर जालसाजों को गिरफ्तार किया है. जो महोबा मेडिकल कोर्स में एडमिशन लेने की कोशिश में लगे छात्र और छात्राओं को ठगा करते थे. आरोपियों की पहचान आशीष और सुधीर के रूप में हुई है. ये दोनों शातिर बच्चों और अभिभावकों को करोड़ों का चूना लगा चुके हैं.

एसटीएफ के मुताबिक आशीष और सुधीर ने गाजियाबाद में अपना ऑफिस बना रखा था. वे अपने ऑफिस से छात्र और छात्राओं का नम्बर मिलाते और उन्हें कोटे से मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस में एडमिशन दिलाने का झांसा देते. ये लोग इतने शातिर थे कि बच्चों के माता पिता भी इनकी बातों में आ जाते थे.

पुलिस के पास इस तरह की कई शिकायतें आ रही थी, तभी उन्हें पता लगा कि गाजियाबाद के लिंक रोड इलाके में मौजूद दो लोग कोटे से एडमिशन दिलाने का झांसा दे रहे हैं. इसके बाद पुलिस ने उनके ठिकाने पर छापा मारा और दोनों को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस ने उनके पास से 22 मोबाइल, 3 लैंड लाइन, 3 डायरी जिसमें इनके गोरखधंधे की पूरा कच्चा चिठ्ठा मौजूद है. इनके पास से कई मेडिकल कॉलेजों के ब्रोशर मिले हैं, जिन्हें इन लोगों ने खुद ही जालसाजी करके छपावाया है.

ये लोग कोचिंग सेंटर से डाटा निकाल लेते थे और फिर उन्हीं नम्बरों पर फोन करते थे. पुलिस के मुताबिक अब तक की जांच के अनुसार इन दोनों ने 93 बच्चों को करीब डेढ़ करोड़ का चूना लगाया है. पुलिस को अब तक इस बात के कोई सबूत नहीं मिले हैं कि इन दोनों ने कभी किसी छात्र या छात्रा का एडमिशऩ भी कराया हो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें