scorecardresearch
 

यूपी के बांदा में विदेशी महिला को सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

उत्तर प्रदेश के बनारस जिले में रूसी महिला पर तेज़ाब फेंके जाने की घटना को ज्यादा वक्त भी नहीं बीता कि बांदा जिले में एक विदेशी महिला के साथ मारपीट और शोषण किए जाने का मामला सामने आया है. पिछले कई माह से उसके साथ अत्याचार हो रहा था.

X
विदेशी महिला जीना सुल्ताना का पासपोर्ट विदेशी महिला जीना सुल्ताना का पासपोर्ट

उत्तर प्रदेश के बनारस जिले में रूसी महिला पर तेज़ाब फेंके जाने की घटना को ज्यादा वक्त भी नहीं बीता कि बांदा जिले में एक विदेशी महिला के साथ मारपीट और शोषण किए जाने का मामला सामने आया है. पिछले कई माह से उसके साथ अत्याचार हो रहा था.

दोस्ती के नाम पर धोखा

यूपी सरकार भले ही विदेशियों को पर्यटन के नाम पर लुभाने की कोशिश करती हो लेकिन सूबे की पुलिस विदेशियों की सुरक्षा को लेकर ज़रा भी गंभीर नहीं है. बांदा का मामला इसी बात की तरफ इशारा करता है. बादां के रहने वाले एक शख्स ने पहले विदेशी महिला से दोस्ती की और फिर उसके साथ बड़ा धोखा किया.

प्यार के जाल में फंसाया

दरअसल, मारीशस की रहने वाली महिला जीना सुल्ताना कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी से पास आउट हैं. जीना 2010 में बिजनेस करने भारत आईं थी. इसी दौरान चित्रकूट में उनकी मुलाकात बांदा के रहने वाले राहुल गुप्ता नामक शातिर से हुई, जिसने खुद को इंजीनियर बताकर जीना को अपने प्यार के जाल में फंसा लिया.

व्यापार के नाम पर ठगी

राहुल ने जीना को भरोसे में लेकर उसके साथ बिजनेस करने का वादा किया. और इस काम के नाम पर उसने जीना से लाखों रूपये ठग लिए. जीना उस इंसान पर भरोसा किए बैठी थी. वो उसके प्यार में सबकुछ भूल गई थी. लेकिन कुछ महिने बीत जाने पर जब कोई काम शुरु नहीं हुआ तो जीना को शक हुआ और उसने राहुल से अपने पैसा वापस मांगा.

पैसा वापस मांगने पर हुआ शोषण

पैसा वापस मांगते ही विदेशी महिला पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा. यह सिलसिला पिछले 20 माह से यूं ही चल रहा है. परेशान हाल जीना ने पिछले हफ्ते भी राहुल से अपना पैसा वापस मांगा तो उसने जीना के साथ मारपीट शुरु कर दी. इसी दौरान वह जान बचाकर बाहर निकल गई. लेकिन राहुल उसके पीछे सड़क पर आ गया और जीना को जमकर पीटा.

पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

विदेशी महिला को इस कदर पीटा गया कि उसकी जान पर ही बन आई. लेकिन पुलिस ने इस मामले को गंभीरता ने नहीं लिया. इससे पहले भी महिला ने पुलिस को उसके साथ हुई ठगी की शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन पुलिस ने आज तक कुछ नहीं किया. महिला के शरीर पर गंभीर चोटें आई हैं. वह इस घटना से बेहद डरी हुई है. पुलिस का ऐसा सुलूक देश की इज्जत पर बट्टा लगाने का काम कर रहा है.

एनजीओ ने की मदद

महिला की मदद के लिए एक एनजीओ आगे आई और उसने पुलिस पर कार्रवाई के लिए दबाव बनाया. इस पर भी जिले के पुलिस अधिकारी केवल आश्वासन देकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं. मगर राहुल गुप्ता के खिलाफ कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हुई है. फिलहाल जीना को महिलाओं के लिए काम करने वाली एक एनजीओ ने शरण दी है. वहीं उसका इलाज भी किया जा रहा है.

विदेश मंत्री से मदद की गुहार

पीड़ित महिला ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पत्र लिखकर उसके मामले में हस्तक्षेप करने की गुहार लगाई है. जीना इस बात की जानकारी मारिशस के दूतावास को भी दी है. हैवानियत का शिकार बनी महिला अपने देश वापस जाना चाहती है. लेकिन पैसा न होने की वजह से वो वापस भी नहीं जा पा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें