scorecardresearch
 

दिल्ली पुलिस ने 3 किलो सोना किया बरामद, 2 आरोपियों को भी किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे पढ़े लिखे जालसाज गैंग का पर्दाफाश किया है, जिन्होंने अपने मालिक से ही करीब 4.8 किलो सोने के बिस्किट की जालसाजी की.

दो आरोपी गिरफ्तार (फोटो- अनुज मिश्रा ) दो आरोपी गिरफ्तार (फोटो- अनुज मिश्रा )

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे पढ़े लिखे जालसाज गैंग का पर्दाफाश किया है, जो अपने मालिक से ही करीब 4.8 किलो सोने के बिस्किट की जालसाजी की. पुलिस ने इस मामले में अमन और सागर नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से करीब 3 किलो सोने के बिस्किट बरामद किए. इसकी कीमत करीब 1 करोड़ 25 लाख बताई जा रही है.

इसमें अमन ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है, वहीं सागर एमबीए कर चुका है. पुलिस के मुताबिक, करोल बाग में ज्वेलरी की दुकान चलाने वाले प्रिंस सोनी नाम के एक शख्स ने 12 जुलाई को पुलिस को शिकयत दी कि 4 लोगों ने उनके साथ बेईमानी करके 4.8 किलो के सोने के बिस्किट ले उड़े, जिसकी कीमत करोड़ो में है.

मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच का जिम्मा क्राइम ब्रांच को सौंपा गया. क्राइम ब्रांच को सूचना मिली कि अमन और सागर नाम के दोनों आरोपी उत्तरांचल के रुद्रपुर में मौजूद है. इसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर इन दोनों को गिरफ्तार कर इनके पास से 17 सोने के बिस्किट बरामद किए, जिसे इन्होंने अपने रिश्तेदारों के घर छीपा रखा था.

gold-biscuit_073019122514.jpg

पूछताछ में अमन ने बातया कि वो मूल रूप से यूपी के संभल का रहने वाला है और हापुड़ की एक यूनिवर्सिटी से वो मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुका है. इसके बाद उसने अपने इलाके में एक इंटरनेट कैफे खोला, लेकिन धंधे में घाटा होने के बाद वो इसी साल दिल्ली आ गया और करोल बाग में अपने रिश्तेदार विशाल की मदद से एक ज्वेलरी की दुकान में काम करने लगा.

जहां अमन, विशाल, कुलदीप और सागर सोना लाने के लिए अक्सर गुवाहाटी और कोलकता जाते रहते थे. लेकिन जल्द अमीर बनने की चाह में अमन, सागर, कुलदीप और विशाल ने एक साजिश रची और अपने मालिक से 30 सोने के बिस्किट ले उड़े. पुलिस के मुताबिक अमन, विशाल और सागर आपस में रिश्तेदार हैं. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है और इनके बाकी साथियों की तलाश कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें