scorecardresearch
 

खुफिया अलर्ट के बाद ग्रेटर कैलाश इलाके में सुरक्षा की गई चाक-चौबंद

भारत ने 'सर्जिकल स्ट्राइक' के जरिए पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है. उसी के मद्देनजर खुफिया एजेंसियों ने देश में आतंकी हमले का अलर्ट भी जारी किया है. देश के मौजूदा हालातों को देखते हुए पूरे देश में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई है.

पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

भारत ने 'सर्जिकल स्ट्राइक' के जरिए पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है. उसी के मद्देनजर खुफिया एजेंसियों ने देश में आतंकी हमले का अलर्ट भी जारी किया है. देश के मौजूदा हालातों को देखते हुए पूरे देश में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई है. राजधानी दिल्ली के संवेदनशील कहे जाने वाले ग्रेटर कैलाश मार्केट में भी सुरक्षा व्यवस्था काफी बढ़ा दी गई है.

दिल्ली के ग्रेटर कैलाश मार्केट की बात करें तो यहां पर 40 सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में पुलिस का कड़ा पहरा बना हुआ है. पुलिस ने संवेदनशील माने जाने वाले इस इलाके में पेट्रोलिंग भी काफी बढ़ा दी है. वहीं मार्केट के एंट्री और एग्जिट गेट पर भी मचानों की संख्या बढ़ा दी गई हैं.

सभी मचानों पर अत्याधुनिक हथियारों के साथ जवान तैनात किए गए हैं. वहीं इलाके में लगातार चेकिंग भी की जा रही है. जीके थाने के एसएचओ दिलीप सिंह ने इस बारे में कहा कि सुरक्षा व्यवस्था के हालातों को देखते हुए हर संदिग्ध की तलाशी ली जा रही है.

उन्होंने कहा कि शाम के वक्त मार्केट में भीड़ ज्यादा हो जाती है, इसलिए एहतियातन शाम के वक्त सिक्योरिटी बढ़ा दी जाती है. जीके मार्केट के अध्यक्ष राजेंद्र शारदा ने बताया कि पूरी मार्केट में 40 सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं. उन्होंने बताया कि 16 कैमरे मार्केट की ओर से और 24 कैमरे पुलिस विभाग की ओर से लगवाए गए हैं.

राजेंद्र शारदा ने आगे कहा कि स्वीपर को खासतौर पर समय-समय पर डस्टबिन साफ करने के सख्त निर्देश दिए गए हैं. इसके अलावा प्राइवेट सुरक्षाकर्मी भी कुछ दुकानों के बाहर तैनात किए गए हैं. बता दें कि साल 2008 में दिल्ली में सीरियल ब्लास्ट हुए थे. इनमें जीके के इसी मार्केट में भी बम ब्लास्ट हुए थे. पुलिस के मुताबिक, जीके के एम-ब्लॉक स्थित मार्केट में बमों को डस्टबिन में रखा हुआ था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें