scorecardresearch
 

दिल्लीः लापता ओला कैब ड्राइवर की लाश बरामद, हत्या की आशंका

34 वर्षीय ड्राइवर सलीमुद्दीन गुरुग्राम के सोहणा का रहने वाला था. वह अचानक 24 जुलाई को लापता गया था. तभी उसके परिजन और पुलिस उसकी तलाश कर रहे थे.

पुलिस मामले की छानबीन कर रही है पुलिस मामले की छानबीन कर रही है

दिल्ली में लापता ओला कैब ड्राइवर की लाश पुलिस ने हैदरपुर नहर से बरामद कर ली है. मृतक अचानक 24 जुलाई को गायब हो गया था. उसके परिजनों का आरोप है कि मामला नफरत की वजह से हत्या किए जाने का है. हालांकि पुलिस इस बात से इनकार कर रही है.

न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक 34 वर्षीय ड्राइवर सलीमुद्दीन गुरुग्राम के सोहणा का रहने वाला था. वह अचानक 24 जुलाई को लापता गया था. तभी उसके परिजन और पुलिस उसकी तलाश कर रहे थे. इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली कि एक नहर के पास किसी पुरुष की लाश पड़ी है.

सूचना के बाद शुक्रवार की सुबह पुलिस मौके पर पहुंची और सलीमुद्दीन का शव हैदरपुर नहर से बरामद कर लिया. उसके सिर पर चोट के निशान मिले हैं. साथ ही उसके बाल भी काट दिए गए हैं. उसके परिवार का आरोप है कि यह घृणा और हत्या का मामला है. लेकिन पुलिस इस बात से इनकार कर रही है.

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि 23 जुलाई को कुछ लोग कश्मीरी गेट टर्मिनल से सलीमुद्दीन की कैब में बैठे थे. उन्होंने ड्राइवर को बोला कि उन्हें आगे के लिए एक बड़ी कार चाहिए, जिस पर सलीमुद्दीन ने उनके लिए दूसरी कैब बुक कर दी. इसके बाद उन लोगों ने सलीमुद्दीन से मुर्थल चलने को कहा और किराया भी एडवांस दे दिया.

बताया जा रहा है कि 23 और 24 जुलाई की दरमियानी रात करीब तीन बजे सलीमुद्दीन की कार बवाना में एक पेड़ से टकराई अवस्था में मिली. सलीमुद्दीन के परिवार का कहना है कि वह 23 जुलाई से घर नहीं लौटा है, इसलिए उन्होंने गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया था.

अब पुलिस ने बताया कि उसका शव 25 जुलाई को नहर से बरामद किया गया है. पोस्टमार्टम के बाद उसका शव परिजनों को सौंप दिया गया है. पुलिस मामले की विभिन्न पहलुओं से जांच कर रही है. इस बीच ओला ने एक बयान जारी कर घटना की निंदा करते हुए सलीमुद्दीन की मौत पर शोक जताया है. अब पुलिस मामले की जांच कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें