scorecardresearch
 

दिल्ली: जलबोर्ड अधिकारी की हत्या के आरोप में दो अरेस्ट, पूछताछ जारी

दिल्ली जल बोर्ड के एक अधिकारी की हत्या कर दी गई. उनकी खून से लथपथ लाश उनके बेटे के ऑफिस से बरामद हुई है. परिजन इस हत्या के लिए दो सट्टेबाजों को जिम्मेदार बता रहे हैं. पुलिस इस मामले में सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है. मामले की जांच अभी चल रही है.

पुलिस मामले की छानबीन कर रही है पुलिस मामले की छानबीन कर रही है

दिल्ली जल बोर्ड के एक अधिकारी की हत्या कर दी गई. उनकी खून से लथपथ लाश उनके बेटे के ऑफिस से बरामद हुई है. परिजन इस हत्या के लिए दो सट्टेबाजों को जिम्मेदार बता रहे हैं. पुलिस इस मामले में सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है. मामले की जांच अभी चल रही है. पुलिस ने इस मामले में शुक्रवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

मामला रोहिणी के सेक्टर 19 का है. बाबूराम दिल्ली जलबोर्ड में बतौर सेक्शन ऑफिसर कार्यरत थे. उनके परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटे नितिन और विपिन हैं. बड़े बेटे का दफ्तर सेक्टर-16 स्थित डीडीए मार्केट में है. बीते दिन, बाबूराम कुछ काम से बड़े बेटे के ऑफिस पहुंचे. उस समय वहां पर एक कर्मचारी मौजूद था. जिसके बाद कर्मचारी किसी काम से बाहर चला गया.

उसी समय ऑफिस के बाहर दो युवकों ने बाबूराम के बारे में पूछा. आधे घंटे बाद कर्मचारी वापस लौटा. जैसे ही वह ऑफिस में घुसा तो सामने ही बाबूराम खून से लथपथ फर्श पर पड़े थे. घबराए कर्मचारी ने इस बात की सूचना उनके बेटे और पुलिस को दी. मौके पर पहुंचे परिजनों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. सूचना मिलते ही पुलिस भी घटनास्थल पहुंची.

पुलिस के मुताबिक, आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है. घटना के समय मौजूद कर्मचारी भी शक के घेरे में है. दूसरी तरफ मृतक परिजन दो सट्टेबाजों पर आरोप लगा रहे हैं. बाबूराम के बेटे पर सट्टेबाजो का कुछ पिछला कर्जा था, जिसके न चुकाने पर उन लोगों ने विपिन को धमकी भी दी थी. फिलहाल पुलिस जांच कर रही है.

हत्या के आरोप में हुई दो गिरफ्तारी

केएन काटजू इलाके में बुधवार को हुई सेक्शन ऑफिसर बाबूराम यादव की हत्या के मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों में एक मृतक का निजी सहायक राहुल भी है. फिलहाल इस हत्या में एक आरोपी अभी भी फरार है. जानकारी के अनुसार, यह हत्या लूटपाट के इरादे से की गई थी. सहायक ने ही दो लुटेरों अमित और जगदीश को बताया था कि बाबूराम के पास काफी रुपये रहते हैं. बुधवार को राहुल के इशारे पर दोनों हमलावरों ने बाबूराम को गोली मार दी. इसके बाद हमलावर मृतक की कार और मोबाइल फोन लूटकर फरार हो गए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें