scorecardresearch
 

दिल्ली: 6 साल की बच्ची से छेड़छाड़ करता था बस ड्राइवर, गिरफ्तार

पूर्वी दिल्ली के कल्याणपुरी थाना क्षेत्र में 6 साल की बच्ची के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है. स्कूल बस का ड्राइवर ही बच्ची के साथ अश्लील हरकतें किया करता था, जिसके बाद एक दिन बच्ची ने स्कूल जाने से इंकार कर दिया.

6 साल की बच्ची के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है 6 साल की बच्ची के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है

पूर्वी दिल्ली के कल्याणपुरी थाना क्षेत्र में 6 साल की बच्ची के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है. दरअसल बच्ची कल्याणपुरी के केंद्रीय विद्यालय में पढ़ती है. बच्ची को बस लेने और छोड़ने आती है. बस का ड्राइवर ही बच्ची के साथ अश्लील हरकतें करता था.

पूर्वी दिल्ली के कल्याणपुरी थाना क्षेत्र में 6 साल की बच्ची के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है. स्कूल बस का ड्राइवर ही बच्ची के साथ अश्लील हरकतें किया करता था, जिसके बाद एक दिन बच्ची ने स्कूल जाने से इंकार कर दिया. बच्ची के मां-बाप ने जब बच्ची से स्कूल न जाने का कारण पूछा तो बच्ची ने बताया ड्राइवर उसे गलत तरीके से छूता है और उसे अच्छा नहीं लगता है, इसलिए वो स्कूल नहीं जाना चाहती.

इसके बाद पीड़ित बच्ची की मां ने कल्याणपुरी थाने जाकर ड्राइवर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया. पुलिस ने भी तुरंत कार्यवाही करते हुए पॉस्को एक्ट और 354A के तहत मुकदमा दर्ज कर ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया. ड्राइवर को न्याययिक हिरासत में भेज दिया गया है.

15 दिन की अंतरिम जमानत पर फरार आरोपी गिरफ्तार

उधर, पत्नी की डिलिवरी के बहाने जेल से 15 दिन की अंतरिम जमानत पर निकल कर फरार हुए शातिर अपराधी परविंदर यादव को पूर्वी दिल्ली की लक्ष्मी नगर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. परविंदर शकरपुर थाना का घोषित अपराधी है. हत्या के आरोप में परविंदर तिहाड़ जेल में बंद था. पुलिस से बचने के लिए फर्जी आधार कार्ड बना कर खोड़ा में रह रहा था.

डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर परमिंदर को लक्ष्मी नगर के रमेश पार्क पुस्ता रोड से गिरफ्तार किया गया. उसकी तलाशी में उसके पास से एक कट्टा और 8 कारतूस और फर्जी आधार कार्ड बरामद हुआ है. बता दें, मंडावली थाना इलाके में हुई हत्या के आरोप में परमिंदर को मंडावली थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा था. पत्नी की डिलिवरी के उसने कोर्ट से अंतरिम जमानत मांगी थी.

कोर्ट ने उसकी अर्ज़ी मंज़ूर करते हुए 8 अक्तूबर 2018 को 15 दिन के लिए अंतरिम जमानत पर रिहा कर दिया था. जमानत मिलने के बाद से ही परमिंदर फरार हो गया था. परमिंदर के खिलाफ 11 आपराधिक मामला दर्ज है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें