scorecardresearch
 

ढाई साल के बेटे को बेड के बॉक्स में बंद करके किया कत्ल, अब आरोपी मां गिरफ्तार

दो दिन से लापता रूपा ने किसी अज्ञात नंबर से अपने पति को फोन किया और पति को बताया कि बेटा बेड बॉक्स में बंद है. दशरथ को जैसे ही पता चला उसने बेड बॉक्स खोला लेकिन तब तक बच्चे की दम घुटने से मौत हो चुकी थी.

पुलिस मामले की छानबीन कर रही है ( सांकेतिक तस्वीर) पुलिस मामले की छानबीन कर रही है ( सांकेतिक तस्वीर)

  • दिसंबर में 6 महीने की मासूम बेटे की संदिग्ध मौत
  • पुलिस को आरोपी मां पर बेटे के कत्ल का शक
  • हर एंगल से जांच में जुटी है पुलिस

चंडीगढ़ पुलिस ने अपने ढाई साल के बेटे को बेड बॉक्स में बंद कर जान लेने वाली आरोपी मां रूपा कुमारी को पंजाब के पठानकोट से गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी मां शनिवार से को बेटे को के मुंह में दस्ताना ठूंस कर उसे बेड बॉक्स में बंद करके फरार हो गई थी. पति दशरथ और रूपा कुमारी मूलतः बिहार के रहने वाले हैं. उन्होंने साल 2016 में शादी की थी और फिर चंडीगढ़ आ गए थे.

वारदात का खुलासा रविवार को हुआ था. दशरथ इलेक्ट्रीशियन है और शनिवार की सुबह अपने काम पर चला गया था लेकिन रात को जब आया तो घर के दरवाजे पर कुंडी चढ़ी थी. पत्नी का कहीं पता नहीं था. अगले दिन वह दोबारा काम पर चला गया और जब शाम को लौट कर आया तो किसी अज्ञात नंबर से फोन करके रूपा ने उसे बताया कि बेटा बेड बॉक्स में बंद है. दशरथ को जैसे ही पता चला उसने बेड बॉक्स खोला लेकिन तब तक बच्चे की दम घुटने से मौत हो चुकी थी.

Must Read: गुजरात में एक मां ने की 6 साल के मासूम बेटे की हत्या, लाश को सूटकेस में छुपाया

इसके बाद सनसनी फैलाने वाले इस मामले में आरोपी मां को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस के अनुसार उसने अपना जुर्म भी कबूल लिया है. पुलिस को शक है कि रूपा ने पिछले साल दिसंबर में अपनी 6 महीने की बेटी की भी इसी तरह से जान ली थी. उसकी बेटी की मौत भी संदिग्ध परिस्थितियों में हुई थी. आरोपी मां का नाम रूपा है. वह 25 साल की है. जबकि ढाई साल के मृतक बच्चे का नाम दिव्यांशु वर्मा था. घटना चंडीगढ़ के सेक्टर 45 स्थित बुड़ेल क्षेत्र की है.

ये था पूरा मामला

मामले की तफ्शीश में जुटी पुलिस के मुताबिक आरोपी महिला अपने ढाई साल के बच्चे को बेड बॉक्स में बंद करने के बाद शनिवार से फरार थी और रविवार को उसके पति दशरथ (28) ने अपनी पत्नी और बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट सेक्टर 45 में दी थी. इसी दौरान पति को एक गुमनाम नंबर से फोन आया था कि फोन उसकी पत्नी ने किया था. पत्नी ने अपने पति को बताया कि दिव्यांशु बैड के बॉक्स में बंद है. यह सुनते ही उसके होश उड़ गए और उसने जैसे ही बॉक्स खोला तो बच्चा बेसुध था. वह उसे तुरंत सेक्टर 32 के अस्पताल लेकर गया जहां बच्चे को मृत घोषित कर दिया गया.

पुलिस के अनुसार गिरफ्तार की गई रुपा से पूछताछ शुरु हो गई है और उसने ढाई साल के बच्चे की हत्या की बात कबूल ली है. पुलिस अब उससे 6 महीने की बच्ची कोमल की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत को लेकर भी पूछताछ कर रही है. इधर, दूसरी तरफ सूत्रों का कहना है कि उक्त दंपत्ति में अक्सर घरेलू झगड़ा रहता था. आरोपी महिला का पति दशरथ पेशे से इलेक्ट्रीशियन है और उसने पुलिस के सामने माना कि उसे शराब की लत थी और इसको लेकर पत्नी से अक्सर झगड़ा हो जाता था. पुलिस इस पूरे मामले में अवैध रिश्ते का अनुमान को आगे रखकर भी जांच जारी रखे हुए है.

ये ज़रूर पढ़ेंः दूध पिलाना नहीं था पसंद, निर्दयी मां ने 15 दिन के मासूम की कर दी हत्या

दशरथ वर्मा के अनुसार उसकी साल 2016 में रूपा से शादी हुई थी और दिव्यांशु साल 2017 में पैदा हुआ था जबकि बेटी कोमल साल 2019 में पैदा हुई थी. उसका आरोप है कि शुरुआत से ही पत्नी के साथ विवाद रहता था क्योंकि वह घर का काम नहीं करती थी. उसने यह भी आरोप लगाया कि वह मेरे पूरे परिवार को खत्म करना चाहती थी और पिछले साल दिसंबर में उसने परिवार के सभी लोगों को खत्म करने की कोशिश भी की थी.

उसने बताया कि वह पिछले दो दिनों से किसी काम से घर से बाहर गया हुआ था और शनिवार को वापस आने पर अपने ढाई साल के बच्चे को तलाश रहा था. इसके बाद उसने रविवार को दोपहर बाद पुलिस ने पत्नी और बेटे की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करवाई थी. इसके बाद देर शाम उसे एक गुमनाम नंबर से पत्नी का फोन आया और उसने बताया कि बेटा बैड के बॉक्स में बंद है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें