scorecardresearch
 

छत्तीसगढ़: अबूझमाड़ में नक्सली कर रहे नए युवक-युवतियों की भर्ती

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ में नक्सलियों ने अपने संगठन का विस्तार करने के लिए गांव वालों से युवक-युवतियों की मांग की है. नक्सलियों की बात मानते हुए ग्रामीणों ने अपने-अपने गांव से पांच-पांच युवक-युवतियों को उनके संगठन में भेजने के लिए चुना है.

नक्सलियों के आह्वान पर ग्रामीणों ने युवक-युवतियों को भेजने की तैयारी की है नक्सलियों के आह्वान पर ग्रामीणों ने युवक-युवतियों को भेजने की तैयारी की है

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ में नक्सलियों ने अपने संगठन का विस्तार करने के लिए गांव वालों से युवक-युवतियों की मांग की है. नक्सलियों की बात मानते हुए ग्रामीणों ने अपने-अपने गांव से पांच-पांच युवक-युवतियों को उनके संगठन में भेजने के लिए चुना है.

आईजी विवेकानंद सिन्हा ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस के पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है. उनका कहना है कि वहां पर वर्तमान में जो नक्सल संगठन के लिए काम कर रहे हैं, वे भी वहीं के ग्रामीण हैं. पुलिस जल्द ही उन पर कार्रवाई करेगी.

सूत्रों के अनुसार, अबूझमाड़ के जाटलूर, जुवाड़ा, पदमकोट, नीलांगुर, धुरबेड़ा, पांगुड, गारपा, कुतुल, परपा, कोडनार, कोडलियार, कटुलनार समेत माड़ के दो दर्जन गांवों में नक्सलपंथ में शामिल होने वाले लोगों के लिए उम्र का बंधन रखा गया है.

जिसमें 14 से 18 साल के बीच के युवक और युवतियों को तरजीह देकर उन्हें नक्सली संगठन का हिस्सा बनाया जा रहा है. नक्सली संगठन में शामिल हुए लोगों को फोर्स की तरह ट्रेनिंग देकर युद्धकला के जौहर सिखाए जा रहे हैं. उन्हें विभिन्न प्रकार के आधुनिक हथियार चलाने की ट्रेनिंग भी दी जा रही है.

सूत्रों का यह भी कहना है कि इस इलाके में अबूझमाड़ के युवक-युवतियों को प्रशिक्षण देने के लिए प्रशिक्षक बुलाया गया है. पर अबूझमाड़ के युवक-युवतियों का नक्सलियों से मोह भंग हो गया और अब वे अपने गांव के विकास पर ध्यान देने की बात कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें