scorecardresearch
 

सगा भाई 3 साल तक करता रहा छोटी बहन से रेप, अब सता रहा है ये डर

एक मासूम के साथ 11 साल की उम्र में उसके सगे भाई ने दुष्कर्म किया और यह सिलसिला तीन साल तक चला. उसके बाद भाई विदेश चला गया. अब दो साल बाद भाई विदेश से लौट रहा है तो 16 साल की किशोरी को यह डर सताने लगा कि कहीं फिर से वही दौर न शुरू हो जाए. हैवानियत भरा यह मामला पंजाब के जालंधर शहर का है.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

  • 11 साल की बहन का 9 साल बड़े भाई ने किया था रेप
  • 5 साल बाद मामला खुला तो पुलिस में दर्ज हुआ केस

जालंधर से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने एक बार फिर से इंसानियत को शर्मसार करके रख दिया है. हैवानियत की सभी हदों को पार करते हुए अपने से 9 साल छोटी सगी बहन के साथ एक भाई कई साल तक बलात्कार करता रहा.

जानकारी के अनुसार, जालंधर की एक मासूम लड़की, अपने से 9 साल बढ़े भाई का तब शिकार बनी जब वह केवल 11 साल की थी. मौजूदा समय में लड़की की उम्र करीब 16 साल है और उसका भाई इस समय मलेशिया में रह रहा है.

विदेश से लौट रहा है भाई तो बहन की नींद उड़ी

2 साल तक जब उसका भाई मलेशिया में रहा तब तक मासूम लड़की किसी तरह से खुद को सुरक्षित महसूस करके अपने घर में ही समय काटती रही मगर कुछ दिन पहले जब उसे इस बात की जानकारी मिली कि उसका भाई मलेशिया से भारत वापस लौट रहा है तो एक बार फिर से उसके दिन का चैन और रातों की नींद उड़ने लगी.

सौतेली बेटी से रेप की कोशिश की तो पत्नी ने उतारा मौत के घाट

सारा-सारा दिन मासूम लड़की घर में अलग-अलग कोनों में छिपकर दुखी रहने लगी और उसे इस बात का भय सताने लगा कि जैसे ही उसका भाई विदेश से वापस आएगा, एक बार फिर से वही रेप का दौर शुरू हो जाएगा. उन्हीं परिस्थितियों में आने का सोचते ही मासूम घबरा गई और उसने चंडीगढ़ की एक वकील से 16 मई को संपर्क साधा और अपनी दर्द भरी कहानी सुनाई.

पुलिस ने इस मामले में की हीला-हवाली

वकील की मदद से इस मामले को स्टेट चाइल्ड कमीशन के ध्यान में लाया गया. एडवोकेट ने यह बताया कि इस पूरे मामले में सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात है कि 25 मई को स्टेट चाइल्ड कमीशन की तरफ से उनके पास एक मैसेज आया जिसमें इस बात की जानकारी दी गई कि उक्त मामले में पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज कर ली गई है और बच्ची को भी रेस्क्यू करके उसे चाइल्ड केयर में भेज दिया गया है मगर जब मंगलवार को वह जालंधर पहुंचीं तो उनकी हैरानी का कोई ठिकाना नहीं रहा. ना तो पुलिस प्रशासन द्वारा कोई एफआईआर दर्ज की गई थी और ना ही बच्ची को तब तक चाइल्ड केयर भेजा गया था.

गुरुग्राम में विवाहिता ने लगाया पड़ोसी पर रेप का आरोप, बाप-बेटे समेत 3 पर केस

उन्होंने कहा कि नियमानुसार ऐसे मामलों में जब किसी भी बच्ची का रेस्क्यू ऑपरेशन किया जाता है तो पुलिस कर्मचारी सादी वर्दी में जाते हैं मगर इस मामले में महिला पुलिस कर्मचारी ने बकायदा वर्दी पहनकर बच्ची के घर पहुंची और बाद में उसे अपनी एक्टिवा पर बैठाकर थाने ले आई. बच्ची को सोमवार से थाने में ही रखा गया जबकि कानूनन उसे तुरंत चाइल्ड केयर भेजा जाना अनिवार्य है और किसी भी सूरत में बच्ची को थाने नहीं लेकर जाया जा सकता.

रेप का मामला किया गया दर्ज

जालंधर के सदर थाने में भाई के खिलाफ मामला तो दर्ज कर लिया गया है. पुलिस ने ही कानून को नजरअंदाज करते हुये एक महिला पुलिसकर्मी को वर्दी में ही लड़की के घर को भेजा और उसे थाने लेकर आए. महिला पुलिसकर्मी लड़की को अपनी एक्टिवा पर लेकर आई और उसको चाइल्ड कमीशन भेजने की बजाए उसको वहीं रखा गया जिसका जवाब पुलिस दे नहीं पाई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें