scorecardresearch
 

बिहारः बैरक में शराब बेच रहे थे पुलिसकर्मी, रंगे हाथों गिरफ्तार

Liquor sale barrack कुछ दिन पहले छापेमारी के दौरान पुलिस ने अलग-अलग इलाकों से अवैध शराब बरामद की. उसी में से पांच पेटी शराब इन पुलिसकर्मियों ने बैरक में छिपाकर रख ली थी. आरोपी उसी शराब को बेच रहे थे.

पुलिस अब मामले की छानबीन कर रही है ( सांकेतिक तस्वीर) पुलिस अब मामले की छानबीन कर रही है ( सांकेतिक तस्वीर)

बिहार में शराब पीना और बेचना दोनों ही जुर्म है. और इस जुर्म की निगरानी की जिम्मा है पुलिस विभाग पर. लेकिन जब वर्दीवाले ही शराब बेचने लगे तो क्या होगा. कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है राज्य के बेगूसराय में. जहां पांच पुलिसकर्मी विदेशी शराब के साथ उस वक्त पकड़े गए, जब वे पुलिस बैरक में ही शराब बेच रहे थे. इस मामले में पुलिस अधीक्षक के आदेश पर कार्रवाई की गई.

बेगूसराय में थाना मुफस्सिल के प्रभारी आरबी प्रसाद ने सोमवार को जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए पांच पुलिसकर्मी बैरक में अक्सर शराब बेचते थे. इसी के बाद पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार के निर्देश पर रविवार की रात पुलिस बैरक में छापेमारी की गई, जहां से पांच कार्टून विदेशी शराब बरामद की गई.

थाना प्रभारी आरबी प्रसाद के मुताबिक पुलिस ने पिछले दिनों छापेमारी के दौरान अलग अलग इलाकों से अवैध शराब बरामद की. उसी में से पांच पेटी शराब इन पुलिसकर्मियों ने बैरक में छिपाकर रख ली थी. आरोपी उसी शराब को बेच रहे थे. गिरफ्तार किए गए पुसिकर्मियों की पहचान स्पेशल अग्जिलरी पुलिस (सैप) के कांस्टेबल रवींद्र कुमार, राजदेव सिंह और होमगार्ड जवान सुरेंद्र कुमार, प्रमोद कुमार सिंह और दीपक कुमार सिंह के रूप में हुई है.

पकड़े पांचों पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जा रही है. आपको बताते चलें कि पिछले दिनों बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मोतीपुर थाना प्रभारी के आवास से भी बड़ी मात्रा में शराब बरामद की गई थी. शराब पर पूर्ण प्रतिबंध के बावजूद वर्दीधारियों की यह हिमाकत पुलिस प्रशासन पर ही कई सवाल खड़े कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें