scorecardresearch
 

हत्या के मामले में मिली थी उम्रकैद, फिर भी कर दिए तीन मर्डर

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे कुख्यात हत्यारे को गिरफ्तार किया है, जिसे हत्या के आरोप में उम्रकैद की सजा हुई थी लेकिन उसके बाद भी उसने तीन लोगों का कत्ल कर दिया. वो तीन मर्डर उस आरोपी ने पैरोल जंप करके अंजाम दिए थे.

X
पुलिस को आरोपी से कई मामलों में अहम जानकारी मिली है
पुलिस को आरोपी से कई मामलों में अहम जानकारी मिली है

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे कुख्यात हत्यारे को गिरफ्तार किया है, जिसे हत्या के आरोप में उम्रकैद की सजा हुई थी लेकिन उसके बाद भी उसने तीन लोगों का कत्ल कर दिया. वो तीन मर्डर उस आरोपी ने पैरोल जंप करके अंजाम दिए थे.

जॉइंट सीपी रवींद्र यादव ने बताया कि आरोपी का नाम दीपक तोमर है. जिसकी उम्र अभी महज 26 साल है. वह बागपत के रमाला का रहने वाला है. क्राइम ब्रांच ने उसे मुखबिर की सूचना के आधार पर मंगोलपुरी रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया. आरोपी के पास से एक देसी कट्टा और 3 गोलियां भी बरामद हुई हैं, पूछताछ में पता चला कि उसने यूपी, दिल्ली और हरियाणा में हत्या समेत कई वारदातों को अंजाम दिया था.

पुलिस के अनुसार, दीपक ने 2008 में अपनी गैंग के साथ मिलकर रोहतक के सिविल लाइंस में एक मर्डर किया था. चौंकाने वाली बात यह है कि इस गैंग ने एक सरपंच के मर्डर की सुपारी ली थी, लेकिन गलतफहमी में किसी दूसरे की हत्या कर दी थी. इस केस में दीपक समेत छह दोषियों को उम्रकैद की सजा हुई थी.

मगर दीपक जुलाई 2014 में पैरोल जंप करके फरार हो गया था. साल 2015 में उसने अपने साथियों के साथ मिलकर बागपत में सनसनीखेज डबल मर्डर को अंजाम दिया था. उस दौरान 21 राउंड फायरिंग करके धर्मेंद्र और सचिन की हत्या कर दी थी.

पुलिस के अनुसार, ये मर्डर गैंगवार के चलते किए गए थे. फिर सितंबर 2015 में उसने अपने साथियों के साथ मिलकर हरियाणा के झज्जर निवासी सोहनवीर को दिल्ली में मौत के घाट उतार दिया था. सोहनवीर ने जेल में दीपक की पिटाई की थी. इस बाबत बाबा हरिदास नगर थाने में मुकदमा दर्ज था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें