scorecardresearch
 

महिला जज हत्याकांडः आरोपी पति ने नार्को टेस्ट से बचने के लिए बनाया बीमारी का बहाना

कानपुर में महिला जज प्रतिभा गौतम के हत्यारे पति ने अपना नार्को टेस्ट करवाने से इंकार कर दिया है. आरोपी ने हाई ब्लडप्रेशर का बहाना बनाकर टेस्ट करवाने से मना किया है.

प्रतिभा गौतम प्रतिभा गौतम

कानपुर में महिला जज प्रतिभा गौतम के हत्यारे पति ने अपना नार्को टेस्ट करवाने से इंकार कर दिया है. आरोपी ने हाई ब्लडप्रेशर का बहाना बनाकर टेस्ट करवाने से मना किया है. जिसके बाद कोर्ट ने पुलिस की अर्जी पर अपना फैसला सुरक्षित रखा है.

कानपुर के बहुचर्चित महिला जज हत्याकांड मामले में आरोपी पति मनु अभिषेक ने नार्को टेस्ट से बचने के लिए एक नया दांव खेला है. मनु ने खुद को हाई ब्लडप्रेशर का मरीज बताकर नार्को टेस्ट करवाने से इंकार कर दिया. आरोपी पति ने कोर्ट में दलील दी कि वह हाई ब्लडप्रेशर का मरीज है और जेल में उसका इलाज चल रहा है. लिहाजा नार्को टेस्ट से उसे खतरा है.

फिलहाल आरोपी की दलील के बाद कोर्ट ने पुलिस की अर्जी पर फैसला सुरक्षित रखा है. बता दें कि पुलिस ने चर्चित हत्याकांड में सुबूत जुटाने के लिए आरोपी के नार्को टेस्ट के लिए अदालत में अर्जी दी थी. गौरतलब है कि मृतका प्रतिभा गौतम कानपुर देहात कोर्ट में बतौर जज तैनात थी. जज प्रतिभा गौतम की लाश उनके घर से 9 अक्टूबर को बरामद की गई थी.

पुलिस ने इस मामले में मृतका के वकील पति मनु अभिषेक को गिरफ्तार किया था. पुलिस के मुताबिक, प्रतिभा गौतम चार महीने की प्रेग्नेंट थी. पति मनु अभिषेक फिलहाल बच्चा नहीं चाहता था. जांच में इस बात के सबूत मिले हैं कि अभिषेक प्रतिभा पर अबॉर्शन के लिए दबाव डाल रहा था, लेकिन वो इसके लिए तैयार नहीं थीं. इस बात को लेकर अभिषेक ने प्रतिभा को धमकी भी दी थी.

मनु अभिषेक को जब लगा कि प्रतिभा उसकी बात नहीं मानेगी तो उसने दुपट्टे से गला घोटकर प्रतिभा की हत्या कर दी. 9 अक्टूबर को पत्नी की हत्या के बाद उसे सुसाइड बताकर अभिषेक ने पुलिस को सूचना दी. इसके बाद वह गाड़ी में बैठकर मौके से फरार होने की कोशिश करने लगा. पुलिस ने उसे रोक लिया और हिरासत में ले लिया. करीब चौबीस घंटे की जांच के बाद पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें