scorecardresearch
 

UP: अवैध धर्मांतरण की फंडिंग में दुबई से केरल तक था नेटवर्क, यूपी ATS के हाथ लगे अहम सुराग

धर्मांतरण (Conversion) के मामले में जांच कर रही यूपी एटीएस (UP ATS) को विदेशी फंडिंग (Foreign Funding) के मामले में अहम सुराग हाथ लगा है. धर्मांतरण के मामले में गिरफ्तार हो चुके नौ आरोपियों से पुलिस कस्टडी रिमांड में हुई पूछताछ के बाद पता चला है कि उमर गौतम (Umar Gautam) के मुख्य फाइनेंसर सलाउद्दीन को दुबई से फंड डाइवर्ट कर भेजा जा रहा था.

जहांगीर और उमर गौतम को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. (फाइल फोटो) जहांगीर और उमर गौतम को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पूछताछ में यूपी ATS के हाथ लगे अहम सुराग
  • दुबई से केरल तक था नेटवर्क
  • दो हवाला कारोबाी भी UP एटीएस के रडार पर

धर्मांतरण (Conversion) के मामले में जांच कर रही यूपी एटीएस (UP ATS) को विदेशी फंडिंग (Foreign Funding) के मामले में अहम सुराग हाथ लगा है. धर्मांतरण के मामले में गिरफ्तार हो चुके नौ आरोपियों से पुलिस कस्टडी रिमांड में हुई पूछताछ के बाद पता चला है कि उमर गौतम (Umar Gautam) के मुख्य फाइनेंसर सलाउद्दीन को दुबई से फंड डाइवर्ट कर भेजा जा रहा था. धर्मांतरण में फंडिंग के इस रैकेट के तार केरल से भी जुड़ गए हैं.

इस्लामिक दावा सेंटर को चलाने वाले उमर गौतम को फंडिंग दुबई में बैठा मुस्तफा शेख नामक व्यक्ति कर रहा था. यूपी एटीएस को उमर गौतम, नागपुर से पकड़े गए प्रकाश कावरे उर्फ एडम, भू प्रियबन्दों उर्फ अर्सलान मुस्तफा और बड़ौदा से पकड़े गए सलाउद्दीन के बैंक खातों को खंगालने के बाद यह जानकारी हाथ लगी है.

कई राज्यों से जुड़े हैं तार

सूत्रों की मानें तो अवैध धर्मांतरण के इस रैकेट में फंडिंग का ट्रेल बड़ौदा, नागपुर, दिल्ली से लेकर केरल तक जा रहा है. दुबई में बैठा मुस्तफा शेख सलाउद्दीन को सीधे फंडिंग कर रहा था. सलाउद्दीन के जरिए ही विदेशी फंडिंग की रकम उमर गौतम और भू प्रियबन्दों के खाते में पहुंच रही थी. सलाउद्दीन ने कई बार रकम उमर गौतम के बैंक खाते में सीधे भेजी है, तो कई बार सलाउद्दीन ने उमर गौतम की संस्था इस्लामिक दावा सेंटर को यह रकम केरल के नदवातुल मुजाहिद्दीन के बैंक खातों के जरिए भेजी है. इतना ही नहीं बड़ौदा में बैठ कर सलाउद्दीन महाराष्ट्र में अवैध धर्मांतरण को अभियान के तहत चला रहे भू प्रियबन्दों उर्फ अर्सलन मुस्तफा को भी फंडिंग कर रहा था.

दो हवाला कारोबारी भी एटीएस के रडार पर

 दुबई के मुस्तफा शेख से आ रही इस फंडिंग में हवाला के दो कारोबारी भी यूपी एटीएस के रडार पर है. यह दोनों ही हवाला कारोबारी 3 सालों से सलाउद्दीन तक फण्ड पहुंचा रहे थे इनके ही नेटवर्क  का एक छोटा कारोबारी नागपुर में प्रकाश कावरे और भू प्रियबन्दों को फंड दे रहा था. विदेशी फंडिंग के इस मामले में यूपी एटीएस से गुजरात एटीएस और केरल पुलिस ने भी संपर्क किया है. विदेशी फंडिंग की इस अहम जानकारी मिलने के बाद उम्मीद है कि हवाला कारोबार से जुड़े कुछ अन्य लोगों की भी गिरफ्तारियां होंगी.

इसपर भी क्लिक करें- यूपी में कैसे फल-फूल रहा धर्मांतरण का खेल, पीड़ि‍तों की आपबीती से समझ‍िए

वहीं, यूपी एटीएस द्वारा पकड़े गए विजयवर्गीय डॉक्टर फराज और कौसर आलम को भी हो रही फंडिंग के बारे में जानकारी जुटा रही है. यूपी एटीएस दुबई के साथ-साथ इजिप्ट और मध्य एशिया के भी कनेक्शन खंगाल रही है. बता दें कि नागपुर से पकड़े गए प्रकाश कावरे उर्फ एडम की पत्नी माई हसन अली, इजिप्ट की रहने वाली है जिसकी वजह से प्रकाश कावरे का इजिप्ट कनेक्शन खंगाला जा रहा है.

फिलहाल यूपी एटीएस ने अवैध धर्मांतरण में अब तक गिरफ्तार उमर गौतम समेत सभी 9 आरोपियों को पुलिस कस्टडी रिमांड में लेने के बाद जेल भेज दिया है. सभी नौ आरोपियों से मिली जानकारी के बाद अब यूपी एटीएस सिलसिलेवार ढंग से जांच आगे बढ़ा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें