scorecardresearch
 

हैदराबादः 500 सीसीटीवी कैमरे, 800 घंटे की फुटेज और 200 लोगों से पूछताछ, ऐसे सामने आया रेप का सच

हैदराबाद पुलिस गांधी अस्पताल और संतोष नगर में हुए रेप के दो मामलों की छानबीन कर रही थी. पुलिस मामले की तह तक जाना चाहती थी. लिहाजा जांच का दायरा भी बड़ा किया. कई टीम बनाकर मामले की तफ्तीश की गई.

पुलिस ने दोनों ही मामलों की तफ्तीश में कड़ी मशक्कत की पुलिस ने दोनों ही मामलों की तफ्तीश में कड़ी मशक्कत की
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रेप के दो मामलों से जुड़ी थी तफ्तीश
  • जांच के लिए बनाई गई थीं कई टीम
  • झूठे निकले दोनों मामले

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में बलात्कार के दो मामलों लेकर पुलिस ने कड़ी मशक्कत की. सैंकडो सीसीटीवी कैमरों की घंटों लंबी फुटेज खंगाली और सैंकड़ों लोगों से लंबी पूछताछ भी की. इस लंबी तफ्तीश का नतीजा ये निकला कि रेप के दोनों मामले झूठे निकले और बेगुनाह बच गए.

दरअसल, हैदराबाद पुलिस गांधी अस्पताल और संतोष नगर में हुए रेप के दो मामलों की छानबीन कर रही थी. पुलिस मामले की तह तक जाना चाहती थी. लिहाजा जांच का दायरा भी बड़ा किया. कई टीम बनाकर मामले की तफ्तीश की गई. हैदराबाद पुलिस ने इसके लिए 500 सीसीटीवी कैमरों से 800 घंटे की फुटेज खंगाली और उसकी जांच पड़ताल की.

ज़रूर पढ़ें-- मेरठ: मंदिर में युवती ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, गर्दन पर म‍िले कटे के न‍िशान 

यही नहीं, हैदराबाद पुलिस ने इन मामलों में 200 लोगों से पूछताछ की. तब जाकर पता चला है कि गांधी अस्पताल और संतोष नगर में कथित सामूहिक बलात्कार की घटनाएं झूठी शिकायतें हैं. ऐसे में पुलिस की मुस्तैदी से बेगुनाह सजा पाने से बच गए.

(हैदराबाद से आशीष पांडेय का इनपुट)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें