scorecardresearch
 

जांच में शामिल होने के लिए मुंबई पहुंचे परमबीर सिंह बोले- मुझे न्यायपालिका में विश्वास

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह अब जांच में शामिल होने के लिए मायनगरी पहुंच गए हैं. उन्होंने आजतक से खास बातचीत करते हुए कहा है कि वे जांच में पूरा सहयोग देने वाले हैं और उन्हें देश की न्यायपालिका में भी पूरा विश्वास है. 

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जांच में शामिल होने के लिए मुंबई पहुंचे परमबीर सिंह
  • आजतक से बोले- मुझे न्यायपालिका में विश्वास

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह अब जांच में शामिल होने के लिए मायनगरी पहुंच गए हैं. उन्होंने आजतक से खास बातचीत करते हुए कहा है कि वे जांच में पूरा सहयोग देने वाले हैं और उन्हें देश की न्यायपालिका में भी पूरा विश्वास है. 

जांच में शामिल होंगे परमबीर

पिछले कई दिनों से परमबीर सिंह चंडीगढ़ में रह रहे थे. उन्होंने बताया था कि मुंबई में उनकी जान को खतरा है, ऐसे में वे वहां नहीं आ सकते. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें फटकार लगाई थी और जांच में शामिल होने का निर्देश दिया था. अब परमबीर सिंह जांच में शामिल होने के लिए मुंबई आ गए हैं. आजतक से बात करते हुए उन्होंने कहा है कि वे अभी के लिए ज्यादा कुछ शेयर नहीं कर सकते हैं. लेकिन उन्हें देश की न्यायपालिका में विश्वास है. उन्हें उम्मीद है कि उन्हें न्याय दिया जाएगा.

अभी के लिए कोर्ट द्वारा परमबीर सिंह को बड़ी राहत दी गई है. उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी गई है लेकिन उन्हें स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि जांच एजेंसियों का लगातार सहयोग करना होगा. जानकारी के लिए बता दें कि 22 जुलाई को मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन ने परमबीर सिंह समेत पांच पुलिसकर्मियों और दो अन्य लोगों के खिलाफ एक बिल्डर से कथित तौर पर 15 करोड़ रुपये मांगने के आरोप में केस दर्ज किया था. आरोप के मुताबिक परमबीर सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों ने एक-दूसरे की मिलीभगत से शिकायतकर्ता के होटल और बार के खिलाफ कार्रवाई का डर दिखाकर 11.92 लाख रुपये की उगाही की थी.

क्यों बढ़ी परमबीर की मुसीबत?

इसी मामले में मुंबई की एक कोर्ट परमबीर सिंह को भगोड़ा भी घोषित कर चुकी है. इसके अलावा अगर वे 30 दिन के अंदर कोर्ट में पेश नहीं होते तो कानून के मुताबिक उनकी संपत्ति को जब्त भी किया जा सकता था. ऐसे में इसी कार्रवाई से बचने के लिए मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने जांच में शामिल होने का फैसला लिया है. अब 6 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई होने जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें