scorecardresearch
 

कौन है अबू बकर शेकाऊ, जिसके सिर पर अमेरिका ने रखा है 7 मिलियन डॉलर का इनाम

हैवानियत के खेल में ये दरिंदा अबू बकर शेकाऊ आईएसआईएस के सरगना अबू बकर अल बगदादी से भी दो कदम आगे है. और बगदादी की तरह ही इसका भी एक ही सपना है और वो ये की नाइजीरिया और उसके आस-पास के देशों को इस्लामिक स्टेट बनाना.

अबू बकर शेकाऊ ही आतंकी संगठन बोको हराम का सरगना है अबू बकर शेकाऊ ही आतंकी संगठन बोको हराम का सरगना है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दुनिया का मोस्ट वॉन्टेड आतंकी हैं अबू बकर शेकाऊ
  • आतंकी संगठन बोको हराम का मुखिया है शेकाऊ
  • अमेरिका ने घोषित किया है 420 करोड़ का इनाम

कुछ लोग उसे छलावा कहते हैं तो कुछ लोग बहरूपिया. और बाकी उसे एक खूंखार कमांडर के तौर पर जानते हैं. बस, उसके एक इशारे भर से उसके आतंकवादियों की फौज कभी भी कहीं भी खून की होली खेलने निकल पड़ती है. फिलहाल नाइजीरिया के एक बड़े हिस्से पर उसी की हुकूमत चलती है और जो उसके फरमान को मानने से इनकार करता है वो ज़िंदा नहीं बचता. अमेरिका ने उस मोस्ट वॉन्टेड आतंकवादी के सिर की कीमत 7 मिलियन डॉलर यानि चार सौ बीस करोड़ रखी है.

अफ्रीका के सबसे बड़े आतंकी संगठन बोको हरम का मुखिया अबू बकर शेकाऊ वही शख्स है, जो पिछले कई सालों से नाइजीरिया में हो रहे क़त्ल-ए-आम के लिए ज़िम्मेदार है. उसका एक नहीं बल्कि कई नाम हैं. अबू बकर शेकाऊ उर्फ दारूल तौहीद, उर्फ अबू बकर शिकवा, उर्फ इमाम अबू बकर शिकू, उर्फ अबू मुहम्मद अबू बकर बिन मोहम्मद अल शकवी अल मुस्लिमी बिशकू.  

हैवानियत के खेल में ये दरिंदा अबू बकर शेकाऊ आईएसआईएस के सरगना अबू बकर अल बगदादी से भी दो कदम आगे है. और बगदादी की तरह ही इसका भी एक ही सपना है और वो ये की नाइजीरिया और उसके आस-पास के देशों को इस्लामिक स्टेट बनाना.

2009 में जब से शेकाऊ बोको हरम का सरगना बना है, तभी से इसके आतंकवादियों ने दरिंदगी की हर हद पार कर दी है. पिछले सात सालों से ये शख्स नाइजीरिया की हुकूमत के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द बना हुआ है. इसी के इशारे पर बोको हराम के लड़ाकों ने पिछले कुछ महीनों में ही नाइजीरिया के अलग अलग शहरों पर हमले किए. 16 शहरों को जला दिया. हजारों लोगों की जान ले ली. और लाखों लोगों को बेघर कर दिया.

फिलहाल नाइजीरिया के उत्तर पूर्व के तीन राज्यों में शेकाऊ का ही फरमान चलता है. सूत्रों के मुताबिक शेकाऊ एक छलावा है और भेष बदलने में माहिर है. वो अपने किसी भी लड़ाके से सीधे बात नहीं करता. उसके साथ हमेशा उसके भरोसेमंद लोग रहते हैं.

देखें- आजतक LIVE TV

अमेरिका ने अबू बकर शेकाऊ के सिर पर 7 मिलियन डॉलर यानि चार सौ बीस करोड़ का इनाम रखा है. लेकिन अभी तक उसकी खुफिया और सुरक्षा एजेसिंयां शेकाऊ को पकड़ने में नाकाम रही हैं. और मौत का ये सौदागर अपने नापाक मंसूबों को लगातार अंजाम दे रहा है. नाइजीरिया के आतंकी संगठन बोको हराम पर सैंकड़ों लोगों के नरसंहार का आरोप है. बोको हराम नाइजीरिया का सबसे खतरनाक आतंकी संगठन बनकर उभरा है.

बोको हराम का मुख्यालय नाइजीरिया के उत्तरी पूर्वी शहर मैडुगुरी में है. संगठन का पूरा नाम है जमाते एहली सुन्ना लिदावति वल जिहाद है. बोको हराम मुस्लिम समुदाय को पश्चिमी समाज के हर चलन का विरोध करता है. चाहे वो चुनाव में वोट डालना हो या फिर शर्ट पैंट पहनना हो या फिर धर्मनिरपेक्ष शिक्षा हासिल करना हो. बोको हराम का उद्देश्य नाइजीरिया की सरकार को उखाड़ फेंक इस्लामिक राज्य स्थापित करना है.

करीब 18 करोड़ की आबादी वाले नाइजीरिया में बोको हराम को मुस्लिम बहुल इलाकों में समर्थन भी मिलता रहा है. नाइजीरिया में बोको हराम की हिंसा के पीछे एक बड़ी वजह यह भी है कि नाइजीरिया सेना के पास अत्याधुनिक हथियारों की कमी है. उनके पास बुनियादी प्रशिक्षण का भी अभाव है, जबकि बोको हराम के आतंकवादियों के पास कहीं बेहतर हथियार और प्रशिक्षण हासिल है. 

बोको हराम आतंकी संगठन ने 2002 से 2013 के बीच करीब दस हजार लोगों की हत्याएं की हैं. अमूमन ये संगठन खास अंदाज में नरसंहार को अंजाम देता है. इसके लड़ाके मोटरबाइक पर आकर संगठन का विरोध करने वाले पुलिस अधिकारियों और राजनेताओं की हत्या करते हैं. संगठन की आलोचना करने वालों के अलावा ये मुस्लिम धर्मगुरुओं को भी निशाना बनाने लगे हैं.

बोको हराम को पैसे कहां से मिलते हैं, संगठन कितना बड़ा है और कितने प्रशिक्षित आतंकवादी संगठन से जुड़े हैं, इसको लेकर ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है. हालांकि अमेरिकी सरकार ने नवंबर 2013 में बोको हराम को आतंकवादी संगठन घोषित करते हुए शेकाऊ पर 70 लाख डॉलर की इनामी रकम घोषित की थी. अमेरिका के मुताबिक, बोको हराम का पश्चिमी अफ्रीका में अल-कायदा से भी जुड़ाव है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×