scorecardresearch
 

ड्रग केस: अनीश इब्राहिम के खास कैलाश राजपूत से जुड़े हैं आरिफ भुजवाला के तार

पूछताछ के दौरान भुजवाला ने बताया कि हाल ही में वह अपनी दुबई यात्रा के दौरान राजपूत से दो बार मिल भी चुका है. आरिफ के पार्टनर चिंकू पठान की गिरफ्तारी के बाद से ही आरिफ फरार चल रहा था जिसे सोमवार को एनसीबी ने गिरफ्तार कर लिया.

कैलाश राजपूत और अनीस भुजवाला. (फाइल फोटो) कैलाश राजपूत और अनीस भुजवाला. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कैलाश राजपूत के नाम दर्ज हैं कई मामले
  • एनसीबी की शुरुआती जांच में खुलासा
  • चिंकू पठान की गिरफ्तारी के बाद से फरार था आरिफ

एनसीबी की गिरफ्त में आए ड्रग्स डीलर आरिफ भुजवाला के तार भगोड़ा घोषित अंडरवर्ल्ड डॉन अनीश इब्राहिम के खास कैलाश राजपूत से जुड़े हैं. एनसीबी के सामने यह बात शुरुआती जांच के बाद सामने आई है. बीते सोमवार एनसीबी ने आरिफ भुजवाला को महाराष्ट्र के रायगढ़ से गिरफ्तार किया था.

पूछताछ के दौरान भुजवाला ने बताया कि हाल ही में वह अपनी दुबई यात्रा के दौरान राजपूत से दो बार मिल भी चुका है. आरिफ के पार्टनर चिंकू पठान की गिरफ्तारी के बाद से ही आरिफ फरार चल रहा था जिसे सोमवार को एनसीबी ने गिरफ्तार कर लिया. भुजवाला और पठान की गिरफ्तारी एनसीबी के लिए काफी अहम है. इससे महाराष्ट्र और अन्य इलाकों में चल रहे ड्रग व्यापार पर नकेल कसने में मदद मिलेगी.

भुजवाला के तार राजपूत से जुड़े होने के बाद अब एनसीबी और ज्यादा सक्रिय हो गई है. बताया जा रहा है कि एनसीबी विदेशों में भी इस मामले से जुड़ी जांच करने की तैयारी में है. राजपूत की तलाश एनसीबी महाराष्ट्र पुलिस, दिल्ली पुलिस, एनसीबी समेत कई जांच एजेंसियों को है. राजपूत अनीश इब्राहिम के साथ मिलकर यूएई, ब्रिटेन और जर्मनी में ड्रग्स का व्यापार करता है. राजपूत साल 2014 में भारत छोड़कर भाग गया था. 

वह यूएई में रहकर ड्रग्स का व्यापार करता है और अक्सर फेक पासपोर्ट का इस्तेमाल ब्रिटेन और जर्मनी जाता रहता है. राजपूत का ड्रग्स व्यापार का नेटवर्क भारत में भी काफी मजबूत है. उसने सेंथेटिक ड्रग्स बनाने के लिए फैक्ट्री और लैब भी बना रखे हैं. जांच में यह भी सामने आया था कि राजपूत के मैक्सिकन और कोलंबियन ड्रग्स व्यापारियों के साथ भी संपर्क है. वह भारत से इन लोगों को ड्रग्स सप्लाई करता है. डीआरआई ने राजपूत के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी कर रखा है.

साल 2020 के फरवरी महीने में डीआरआई ने नवी मुंबई से तीन लोगों को 50 करोड़ के मेफिड्रोन के साथ पकड़ा था. जांच में इन तीनों ने बताया था कि ये लोग कैलाश राजपूत के लिए काम करते हैं और यह प्रतिबंधित पदार्थ यूएई में सप्लाई के लिए जा रहे थे. राजपूत के खिलाफ दिल्ली मुंबई में कई मामले दर्ज हैं. साल 2017 में दिल्ली पुलिस ने सामजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी के भतीजे असलम आजमी को भी आईसीई बरामद होने के मामले में गिरफ्तार किया था. असलम ने बताया था कि वह कैलाश राजपूत के लिए काम करता है.

देखें- आजतक LIVE TV

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें