scorecardresearch
 

दिल्ली: साढ़े सात लाख का इनामी बदमाश सूबे गुज्जर IGI एयरपोर्ट से गिरफ्तार, दर्ज हैं 100 से ज्यादा केस

एसटीएफ के हत्थे चढ़े सूबे गुज्जर पर साढ़े सात लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया था. गुरुग्राम के बार गुज्जर का रहने वाला सूबे गुज्जर साल 2018 में पेरोल पर आने के बाद से फरार चल रहा था.

 साढ़े सात लाख के इनामी बदमाश को एसटीएफ गुरुग्राम ने किया गिरफ्तार. (सांकेतिक फोटो) साढ़े सात लाख के इनामी बदमाश को एसटीएफ गुरुग्राम ने किया गिरफ्तार. (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2018 से पेरोल पर आने के बाद से था फरार
  • बीते कई सालों से थी गुरुग्राम पुलिस और STF को तलाश
  • 100 से अधिक संगीन मामले है दर्ज 

हरियाणा के मोस्ट वांटेड बदमाश सूबे गुज्जर को गुरुग्राम की एसटीएफ ने दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया है. एसटीएफ के हत्थे चढ़े सूबे गुज्जर पर साढ़े सात लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया था. गुरुग्राम के बार गुज्जर का रहने वाला सूबे गुज्जर साल 2018 में पेरोल पर आने के बाद से फरार चल रहा था. एसटीएफ चीफ सतीश बालन की मानें तो सूबे गुज्जर पर हत्या के 11 मामले दर्ज है. इसके अलावा हत्या के प्रयास के 12 मामले दर्ज है. लूट और फिरौती के भी की मामलों में पुलिस को उसकी तलाश थी.

एसटीएफ उसकी तलाश में कई स्थानों पर दबिश भी दे चुकी थी,लेकिन वह पुलिस गिरफ्त से बाहर चल रहा था..एसटीएफ को सूचना मिली कि सूबे गुज्जर दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंच रहा है और वह देश छोड़ने की फिराक में है. इस पर एसटीएफ की टीम दिल्ली एयरपोर्ट पहुंची ओर टर्मिनल 3 से उसे गिरफ्तार कर लिया.  सुबे गुज्जर ने नॉर्थ गोवा और उसके बाद साउथ गोवा में अपना ठिकाना बना रखा था. 

सूबे गुज्जर.


एसटीएफ चीफ सतीश बालन की मानें तो गेंगस्टर कौशल की गिरफ्तारी के बाद सूबे गुजर कौशल गैंग का संचालन कर रहा था. वह गुरुग्राम और रेवाड़ी में नंबरदार और गिरदावर की हत्या कर फरार हो गया था. इसके अलावा एक नामी कम्पनी के संचालक को 20 लाख रुपए की फिरौती के लिए धमकी भी दी थी.

एसटीएफ चीफ की मानें तो सूबे गुज्जर ने फर्जी पहचान पत्र बनाया हुआ था. जिसका इस्तेमाल करते हुए वह भरतपुर राजस्थान व चेन्नई में फरारी काट रहा था और अब देश छोड़ने की फिराक में था. सूबे गुज्जर देश छोड़ कर फरार हो पाता इससे पहले ही एसटीएफ ने उसे धर दबोचा. 

एसटीएफ की गिरफ्त में आए सूबे गुज्जर के आपराधिक रिकॉर्ड को देखते हुए जिला पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर उसकी प्रॉपर्टी को नीलाम करने की ऐलान किया था लेकिन नीलामी के लिए कोई भी खरीददार सामने नहीं आया. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि सूबे गुज्जर का खौफ किस कदर था. बहरहाल एसटीएफ ने सुबे गुज्जर को गिरफ्तार कर आतंक के एक और अध्याय को समाप्त कर दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें